Home केजरीवाल विशेष पंजाब में केजरीवाल की पार्टी टूटने के कगार पर, विधानसभा चुनाव से...

पंजाब में केजरीवाल की पार्टी टूटने के कगार पर, विधानसभा चुनाव से पहले एक तिहाई विधायकों ने छोड़ी पार्टी, छिन सकता है प्रमुख विपक्षी दल का दर्जा

573
SHARE

विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब में आम आदमी पार्टी की कलई खुलने लगी है और मुश्किलें बढ़ने लगी हैं। पार्टी को झटके दे-देकर विधायक लगातार पार्टी का साथ छोड़ रहे हैं। एक तिहाई विधायकों ने तो पार्टी से अपना दामन छुड़ा लिया है। हालात यह हैं कि विधानसभा में आम आदमी पार्टी प्रमुख विपक्षी दल का दर्जा खो सकती है। शिरोमणि अकाली दल के विधायक अब आप से ज्यादा हो गए हैं।एक तिहाई विधायकों ने आम आदमी पार्टी से किया किनारा
साल 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के कुल बीस विधायक चुनाव जीते थे, लेकिन पिछले 4.5 सालों में सात विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इनमें सुखपाल सिंह खैहरा, नाजर सिंह मानशाहियां, कंवर संधू, एचएस फुल्का, पीरमल सिंह खालसा, रूपिंदर कौर रुबी और जगदेव सिंह कमालू के नाम शामिल हैं। पंजाब की आम आदमी पार्टी में अभी और बड़ी टूट के आसार बने हुए हैं।

छिन सकता है प्रमुख विपक्षी दल का दर्जा भी
पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले ही आम आदमी पार्टी को झटके लगने शुरू हो गए हैं। आप के विधायकों के लगातार टूटने से मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने चुटकी ली है। चन्नी ने आम आदमी पार्टी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के विधायकों की संख्या अब शिरोमणि अकाली दल (शिअद) से भी कम हो चुकी है। उसका राज्य में प्रमुख विपक्षी दल का दर्जा भी छिन सकता है। 2017 के विधानसभा चुनाव में आप के 20 और शिअद के 15 विधायक जीते थे।‘आप राजनीतिक करिश्मा नहीं, सिर्फ कोरी ड्रामेबाजी’
आप विधायक रूपिंदर कौर रूबी को कांग्रेस की सदस्यता दिलाने के बाद मुख्यमंत्री चन्नी ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी राजनीतिक करिश्मा नहीं, सिर्फ ड्रामेबाजी है। इसका पता अब सबको चल गया है, इसलिए अब लोग कांग्रेस के पास आ रहे हैं। अब पंजाब में आम आदमी का राज आ चुका है।मुख्यमंत्री चेहरा न बनाने से भगवंत मान भी निराश
इधर, संगरूर से सांसद भगवंत मान भी आप के आलाकमान केजरीवाल के नाखुश हैं। भगवंत मान खुद भी पंजाब में आप द्वारा CM फेस न बनाए जाने से निराश हैं। आप छोड़ चुकी विधायक रूबी ने कहा कि वह कुछ महीने पहले भगवंत मान से मिली थीं। वह काफी निराश थे। वहां पर उनके परिवार के लोग भी मौजूद थे। उन्होंने वहीं कह दिया था कि अगर भगवंत मान सीएम चेहरा न हुए तो वह पार्टी से इस्तीफा दे देंगे।

नया नेता आया तो टूट सकते हैं 3-4 और विधायक
कांग्रेस के चित्त-पट्ट की कुश्ती लड़ रहे नवजोत सिद्धू जब भी नाराज होते हैं, तो उनकी आम आदमी पार्टी में जाने की चर्चाएं जोर पकड़ने लगती हैं। आप छोड़ चुकी विधायक रूपिंदर रूबी ने इसका भी खुलासा किया कि मान की जगह पार्टी ने किसी और का सीएस फेस बनाया, उनकी जगह पर अगर कोई दूसरा नेता आया तो 3 से 4 और विधायक आप छोड़ सकते हैं। बताया जा रहा है कि पार्टी के कुछ बड़े नेता और विधायक मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के संपर्क में हैं।

 

Leave a Reply