Home समाचार मोदी राज में भारतीय वायुसेना की नई उड़ान, पहली बार ‘डेज़र्ट फ्लैग’...

मोदी राज में भारतीय वायुसेना की नई उड़ान, पहली बार ‘डेज़र्ट फ्लैग’ युद्धाभ्यास में लेगी हिस्सा, फारस की खाड़ी में दिखाएगी दम

355
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत की धमक पूरी दुनिया में सुनाई पड़ रही है। अब भारत और अरब देशों के बीच बढ़ते रक्षा संबंधों में एक नया पड़ाव जुड़ने जा रहा है। भारतीय वायु सेना के विमान फारस की खाड़ी के क्षेत्र में पहली बार अपनी ताकत का प्रदर्शन करेंगे। वायुसेना के विमान यूएई में होने जा रहे बहुराष्ट्रीय सैन्य अभ्यास ‘डेजर्ट फ्लैग’ में हिस्सा लेंगे।

यूएई में अमेरिका, फ्रांस, दक्षिण कोरिया समेत 10 देशों का सैन्य युद्धाभ्यास तीन सप्ताह तक चलने वाला है। वायुसेना के एक अधिकारी के मुताबिक इस युद्धाभ्यास में शामिल होने के लिए भारतीय वायुसेना के 6 एसयू-30-एमकेआई युद्धक विमान बुधवार को संयुक्त अरब अमीरात के लिए रवाना होंगे। इसके साथ ही हवाई युद्धाभ्यास में भारतीय वायुसेना के दो सी-17 विमान भी हिस्सा लेंगे।

सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक भारत ने हाल के दिनों में खाड़ी देशों के साथ मजबूत रक्षा संबंध विकसित किए हैं। इसमें सैन्य प्रशिक्षण, खुफिया सूचनाएं साझा करना और कुछ द्विपक्षीय अभ्यास भी शामिल हैं लेकिन ये पहला मौका है जब भारतीय वायु सेना खाड़ी क्षेत्र में हो रहे बहुराष्ट्रीय युद्धाभ्यास में हिस्सा ले रही है।

भारत और अरब देशों के बीच हाल के दिनों में रक्षा सहयोग बढ़ा है। हाल ही में सेना प्रमुख एमएम नरवणे ने सऊदी अरब और यूएई का दौरा किया था। उसके कुछ समय बाद ही भारतीय वायुसेना यूएई में हो रहे बहुराष्ट्रीय हवाई युद्धाभ्यास में हिस्सा ले रही है। जब राफेल विमान फ्रांस से भारत आ रहे थे तो यूएई में उतरकर इन विमानों ने ईंधन भी भरा था।

गौरतलब है कि पिछले 5 वर्षों में यह चौथा मौका है जब भारतीय वायु सेना किसी बहुराष्ट्रीय युद्धाभ्यास में हिस्सा ले रही है। इसके पहले वायुसेना ने 2016 में अमेरिकन रेड फ्लैग, 2017 में इजरायली ब्लू फ्लैग और आस्ट्रेलियन पिच ब्लैक वारगेम 2018 में हिस्सा लिया था।

 

 

 

Leave a Reply