Home विपक्ष विशेष मध्य प्रदेश और राजस्थान चुनाव से पहले कांग्रेस ने फेंका समाज को...

मध्य प्रदेश और राजस्थान चुनाव से पहले कांग्रेस ने फेंका समाज को बांटने का ब्रह्मास्त्र

1482
SHARE

मध्य प्रदेश और राजस्थान की सत्ता पाने के लिए कांग्रेस पार्टी ने अपना ब्रह्मास्त्र चल दिया है। कांग्रेस का ब्रह्मास्त्र है समाज को बांटो और राज करो। इसी के बल पर कांग्रेस ने दशकों तक देश पर राज किया है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने नेताओं को निर्देश दिया है कि समाज में जितना भी जहर उगलना है उगलो, लेकिन किसी भी सूरत में एमपी और राजस्थान की सत्ता हासिल करो। इसी के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सी पी जोशी ने राजस्थान के नाथद्वारा में जहरीला बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हिंदू धर्म के बारे में बोलने का अधिकार सिर्फ ब्राह्मणों का है। इतना ही नहीं जोशी ने पीएम मोदी और केंद्रीय मंत्री उमा भारती की जाति पर भी सवाल उठाए। गौरतलब है कि इससे पहले कमलनाथ भी कह चुके हैं कि उन्हें सिर्फ मुसलमानों के वोट चाहिए।

कांग्रेस को नहीं है हिंदुओं के वोट की जरूरत, कमलनाथ ने की मुसलमानों से एकजुट होकर मतदान की अपील
विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से सांप्रदायिकता पर उतर आई है। वोटों के ध्रुवीकरण में लगी कांग्रेस पार्टी को सिर्फ मुस्लिम वोटों की चिंता है और मुसलमानों को अपने पाले में करने के लिए कांग्रेस के नेता कुछ भी करने पर आमादा है। हाल ही मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने मुल्ला-मौलवियों के साथ गोपनीय बैठक में चुनाव बाद हिंदुओं से निपटने की बात कही थी। अब कमलनाथ का एक और बयान सामने आया है, जिसमें वो मुसलमानों से कहते हुए दिख रहे हैं कि कांग्रेस को सत्ता में आने के लिए मुसलमानों को 90 फीसदी वोट मिलना जरूरी है। इस बयान से साफ हो गया है कि कांग्रेस को हिंदू वोटों की कोई चिंता नहीं, अगर उसे चिंता है तो सिर्फ मुसलमानों की।

मध्य प्रदेश में हार सामने देख बौखलाई कांग्रेस, कमलनाथ ने सरकारी कर्मचारियों को दी धमकी
मध्य प्रदेश में जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आती जा रही है, हार की आशंका से कांग्रेस पार्टी और उसके नेताओं की बौखलाहट बढ़ती जा रही है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ तो गुंडागर्दी पर उतर आए हैं। कमलनाथ में सागर की एक रैली में सरेआम सरकारी कर्मचारियों को धमकी दी है। उन्होंने कहा कि जो भी कर्मचारी भाजपा के साथ जुड़े हैं, उन्हें चुनाव परिणाम के बाद चक्की में पीस दिया जाएगा। आपको बता दें कि इससे पहले कमलनाथ मुल्ला-मौलवियों के साथ सीक्रेट मीटिंग में हिंदुओं को चुनाव बाद निपटाने की बात कह चुके हैं।

कमलनाथ ने चुनाव बाद हिंदुओं से निपटने की दी धमकी
कांग्रेस पार्टी सत्ता हथियाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। लोगों को धर्म और जाति के आधार पर बांटना, लोगों में फूट डालना, आपस में लड़वाना कांग्रेस पार्टी की पुरानी फितरत है। विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस पार्टी यही फार्मूल अपना रही है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस नेता कमलनाथ का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वह राज्य के मुल्ले, मौलवियों के साथ सीक्रेट मीटिंग करते हुए नजर आ रहे हैं। बैठक में कमलनाथ साफ कह रहे हैं कि चुनाव तक शांति रखो उसके बाद हिंदुओं से निपट लिया जाएगा। इस वीडियो से एक बार फिर साफ हो गया है कि कांग्रेस पार्टी मध्य प्रदेश में कोई बड़ी साजिश रच रही है और किसी भी कीमत पर चुनाव जीतना चाहती है।

फिर सामने आई कांग्रेस की महिला विरोधी मानसिकता, कमलनाथ ने महिलाओं को कहा सजावट का सामान
कांग्रेस पार्टी की महिला विरोधी मानसिकता एक बार फिर सामने आ गई है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने महिलाओं की गरिमा को ठेस पहुंचाने वाला बयान दिया है। कमलनाथ महिलाओं को सजावट का सामान कहा है। दरअसल, पत्रकारों ने जब उनसे विधानसभा चुनाव में कम महिला प्रत्याशी उताने के बारे में सवाल पूछा तो, कमलनाथ ने कह दिया कि उन्होंने महिलाओं को सजावट और कोटे के आधार पर टिकट नहीं दिए गए हैं। कमलनाथ के इस बयान से राज्य में सियासी बवाल मच गया है। तमाम महिला संगठन और महिला कार्यकर्ता इस बयान को लेकर कांग्रेस पार्टी के खिलाफ हो गए हैं। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के कुल मतदाताओं में महिला वोटरों की संख्या साढ़े तीन करोड़ है और यहां कांग्रेस पार्टी ने सिर्फ 25 महिला उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है। कमलनाथ का यह बयान 28 नवंबर को होने वाले चुनाव में भारी पड़ सकता है।

 

 

Leave a Reply