Home समाचार अंबानी को गाली देने वाले कांग्रेसी उस समय उनके तलवे चाट रहे...

अंबानी को गाली देने वाले कांग्रेसी उस समय उनके तलवे चाट रहे थे…

1094
SHARE

किसानों को उद्योगपतियों का तरह-तरह का डर दिखाकर प्रदर्शन के लिए भड़काया जा रहा है। उनको गुमराह करने के लिए अडानी और अंबानी को एक खलनायक के तौर पर पेश किया जा रहा है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह मुकेश अंबानी को नए कृषि कानून का प्रमुख लाभार्थी बता रहे हैं। लेकिन यहीं अमरिंदर सिंह कई बार मुकेश अंबानी के तलवे चाटते नजर आए हैं। 2016 में अमरिंदर सिंह उस समय विलाप करने लगे, जब तत्कालीन अकाली दल की सरकार ने रिलायंस रिटेल के साथ हुए एक समझौते को रद्द कर दिया था। 

अमरिंदर सिंह ने 27 जुलाई, 2016 को एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि हमने 3000 करोड़ रुपये के रिटेल एग्री-बिजनेस प्रोजेक्ट की शुरुआत के लिए रिलायंस ग्रुप के साथ समझौता किया था। इस समझौते से 3000 गांवों में कम से कम 1.5 लाख किसानों की आय को तीन गुना करने में मदद मिलती,लेकिन अकालियों ने इसे रद्द कर दिया।

रिलायंस रिटेल और पंजाब सरकार के बीच हुआ था समझौता

दरअसल मुकेश अंबानी के नियंत्रण वाली रिलायंस रिटेल ने अगस्त 2006 में कृषि और रिटेल प्रोजेक्ट के लिए पंजाब सरकार के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किया था, जिसमें 500 करोड़ रुपये का शुरुआती निवेश का प्रावधान किया गया था। लेकिन बाद में इसे 3,000 करोड़ रुपये तक बढ़ाया जाना था। तत्कालीन उपमुख्यमंत्री राजिन्दर कौर भट्टल की मौजूदगी में समझौता ज्ञापन पर पंजाब के वित्त आयुक्त जी एस चीमा और रिलायंस रिटेल के अध्यक्ष संजीव अस्थाना ने हस्ताक्षर किए थे।

अमरिंदर सिंह ने खेत से फैक्ट्री तक सप्लाई चेन का दिया सुझाव

नवंबर 2017 में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआइएल) के चेयरमैन मुकेश अंबानी के बीच मुंबई में मुलाकात हुई। इस दौरान टेलीकॉम और डाटा नेटवर्क के अलावा कृषि उत्पादकता, फूड प्रोसेसिंग उद्योग, उत्पादन सुविधाओं और परचून, खेल सहित विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग देने पर अंबानी ने सहमति जताई। कृषि के क्षेत्र में सहयोग के मामले में मुख्यमंत्री अमरिंदर ने सुझाव दिया कि आरआइएल को खेत से फैक्ट्री तक या उपभोग केंद्रों तक सप्लाई चेन स्थापित करनी चाहिए।

उद्योगपतियों के खिलाफ कांग्रेस के इस दोगलापन पर सोशल मीडिया पर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया दी हैं। 

 

 

Leave a Reply