Home वाराणसी विशेष कौशल विकास से काशी के युवाओं को मिल रहे बेहतर अवसर

कौशल विकास से काशी के युवाओं को मिल रहे बेहतर अवसर

2656
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के विकास में युवाओं के योगदान का महत्व समझते हैं। प्रधानमंत्री अक्सर अपने भाषण में युवाशक्ति का जिक्र करते हैं। देश के आर्थिक और सामाजिक विकास में युवाओं का कौशल विकास एक प्रेरक का काम करता है। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में युवाओं को प्रशिक्षण और रोजगार के अवसर मुहैया कराने के लिए कई काम किए गए हैं।

लघु उद्योग और कौशल विकास के साथ यहां खादी संस्थाओं और कारीगरों को बढ़ावा देने के लिए-

  • विक्रेता विकास कार्यक्रम,
  • उद्यमिता विकास कार्यक्रम,
  • क्रेडिट लिंक व कैपिटल सब्सिडी योजना,
  • निर्यात के लिए पैकेजिंग प्रबंधन कार्यक्रम,
  • इंक्यूबेटर कार्यक्रम का सघन क्रियान्वयन किया गया है।

कालीन की बुनाई के विकास के लिए स्फूर्ति योजना के तहत 13 लाख रुपए में एक कलस्टर का निर्माण किया गया है। इसके साथ कॉयर बोर्ड की ओर से वाराणसी में एक अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का आयोजन किया गया। एक नया शोरूम सहित बिक्री केंद्र भी खोलने का फैसला किया गया है।

दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के तहत प्रशिक्षण के लिए वाराणसी जिले के 3105 लोगों का चयन और उनमें से 1864 का प्रशिक्षण पूरा हो चुका है। इसके साथ ही सैमसंग एमएसएमई इंस्टीट्यूट की स्थापना भी की गई है।

युवाओं के सर्वांगीण के लिए नेहरू युवा केंद्र, वाराणसी की ओर से कई उल्लेखनीय कार्य किए हैं। जिसमें कौशल विकास, खेलकूद, क्षमता संवर्धन, नेतृत्व क्षमता विकास जैसी गतिविधियां शामिल हैं। इसके साथ ही स्वच्छता पखवाड़ा, वाद-विवाद प्रतियोगिता, युवा संसद कार्यक्रम का सफल आयोजन किया गया।

वाराणसी में संगीत, नृत्य, नाट्य, हस्तशिल्प आदि को प्रदर्शित करने और सम्मेलन, बैठक, संगोष्ठी, कार्यशाला आदि के आयोजन के लिए 140 करोड़ की लागत से एक विश्वस्तरीय कनवेंशन सेंटर का निर्माण कराया जा रहा है। जाहिर है कौशल विकास के कार्यक्रम से काशी के युवाओं को रोजगार के कई असवर मिल रहे हैं।

LEAVE A REPLY