Home समाचार वाजपेयी जी के निधन से अमेरिका, ब्रिटेन सहित दुनियाभर में शोक

वाजपेयी जी के निधन से अमेरिका, ब्रिटेन सहित दुनियाभर में शोक

365
SHARE

पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर अमेरिका, रूस, जापान, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, पाकिस्तान सहित कई देशों ने शोक व्यक्त किया है। वाजपेयी जी के अंतिम दर्शन के लिए कई देशों के नेता भारत पहुंचे। भूटान के राजा जिग्‍मे खेसर नामग्‍येल वांगचुक ने बीजेपी मुख्‍यालय पहुंच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ अटल जी को श्रद्धांजलि दी।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइकल पोम्पियो ने अपने शोक संदेश में श्री वाजपेयी के भारत के एक वैश्विक एवं आर्थिक महाशक्ति बनाने के योगदान को याद किया और कहा कि उन्होंने प्रत्येक भारतीय के जीवन को उन्नत बनाने के लिए अथक परिश्रम किया।

अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई ने भी वाजपेयी जी को अंतिम विदाई दी। अफगानिस्तान के राजदूत डॉ शाइदा अब्दुल्ला ने कहा कि ना केवल भारत बल्कि समूचे दक्षिण एशिया ने एक कद्दावर नेता को खो दिया है जिसने हमारे लिए नेतृत्व के सर्वोच्च मानक छोड़े हैं। भारत के लोगों को हुई इस बड़ी क्षति पर हम शोकाकुल हैं। 

भारत में ब्रिटेन के उच्चायुक्त ने कहा कि हम पूर्व प्रधानमंत्री श्री वाजपेयी के निधन से दुखी हैं। हम उन्हें भारत के महानतम नेताओं में से एक के रूप में याद करते हैं। उन्हें ब्रिटेन में एक राजनेता के रूप में बहुत सम्मान पूर्वक देखा जाता है। वाजपेयी जी के निधन पर उन्हें सम्मान देते हुए नई दिल्ली स्थित ब्रिटिश उच्चायोग ने अपना राष्ट्रीय ध्वज यूनियन जैक आधा झुका दिया।

एशिया-प्रशांत क्षेत्र के ब्रिटिश विदेश मंत्री मार्क फिल्ड ने अपने शोक संदेश में कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी भारत के महान नेताओं में से थे। हम उनके निधन से दुखी हैं।

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भेजे एक शोक संदेश में कहा कि श्री वाजपेयी बेदाग निष्ठा एवं समर्पण वाले एक दूरद्रष्टा राजनेता थे जिन्हें भारत के लोगों की निस्वार्थ एवं अनुकरणीय सेवा के लिए हमेशा याद किया जाएगा। श्री वाजपेयी के निधन से विश्व ने एक कद्दावर राजनीतिज्ञ और नेपाल ने एक सच्चा मित्र एवं हितैषी खो दिया है। उन्हें भारत नेपाल मैत्री को मजबूत करने के लिए याद किया जाएगा। श्री वाजपेयी की अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली नई दिल्ली आए हैं।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अपने शोक संदेश में कहा कि हम भारत के सबसे महान सपूतों में एक श्री वाजपेयी के निधन का समाचार सुन कर गहरे सदमे में हैं। उन्हें क्षेत्रीय समृद्धि और शांति के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बांग्लादेश के अभिन्न मित्र के रूप में उन्हें बहुत सम्मान प्राप्त थो और 1971 के युद्ध में अमूल्य योगदान के लिए उन्हें मुक्तिजोधा सेनानी के सम्मान से अलंकृत किया गया था।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष एवं भावी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच उनके शांति प्रयासों को हमेशा याद किया जायेगा। उन्होंने श्री वाजपेयी को दक्षिण एशिया की राजनीति की बड़ी शख्सियत बताते हुए कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री के रूप में भारत और पाकिस्तान के बीच संबंधों को बढ़ाने की जिम्मेदारी निभाई। इस दुख की घड़ी में हम भारत के साथ खड़े हैं। श्री वाजपेयी के निधन से दक्षिण एशिया की राजनीति में शून्यता उत्पन्न हुयी है।

पाकिस्तान सरकार की ओर से कार्यवाहक सूचना एवं कानून मंत्री अली जफर पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अंत्येष्टि में शामिल होंगे।

मॉरीशस सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के चलते अपना राष्ट्रीय ध्वज और भारत का राष्ट्रीय ध्वज आधा झुकाकर फहराने का फैसला किया।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस बात की जानकारी दी। अपने एक ट्वीट में रवीश कुमार ने लिखा है कि हमारे दुख में शरीक होते हुए, एक अभूतपूर्व प्रतीकात्मकता दिखाते हुए, मॉरीशस की सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के कारण अपनी सरकारी बिल्डिंगों पर आज राष्ट्रीय ध्वज आधा झुकाकर फहराने का फैसला किया है।

देखिए कुछ विदेशी नेताओं का शोक संदेश

LEAVE A REPLY