Home समाचार मोदी सरकार से नाराज नीरव मोदी और विजय माल्या, दोनों की बातचीत...

मोदी सरकार से नाराज नीरव मोदी और विजय माल्या, दोनों की बातचीत हुई लीक!

1069
SHARE

BREAKING NEWS, SUPER EXCLUSIVE या फिर आप कुछ भी कह लें, लेकिन इस समय देश के दो सबसे बड़े भ्रष्टाचारी विजय माल्या और नीरव मोदी दोनों ही मोदी सरकार से खासे नाराज हैं। दोनों की फोन पर हुई बातचीत के अंश आप यहां पढ़िए। इस बातचीत से आपको देश की दशा और दिशा का पता चलेगा। 

विजय माल्या- नमस्कार भाई, क्या हाल है? कहां हो?

नीरव मोदी – बुरा हाल है भाई, लेकिन एड्रेस तो न पूछो, मोदी पीछे पड़ा हुआ है… सीबीआई ने इंटरपोल से ‘डिफ्यूजन नोटिस’ जारी करने का अनुरोध किया है।

विजय माल्या– क्या है यह डिफ्यूजन नोटिस?

नीरव मोदी– अरे भाई ये नोटिस किसी व्यक्ति का पता लगाने के लिए जारी किया जाता है जो देश की सीमा से बाहर हो… किसी दूसरे देश में छिपा बैठा हो। इसके अलावा इंटरपोल को भी कह दिया है मेरा पता लगाने के लिए।… खैर आप बताओ आप कैसे हो?

विजय माल्या– क्या बताऊं यार लंदन में झक मार रहा हूं, अपने देश भी नहीं जा सकता… बुरा हाल कर दिया है नरेन्द्र मोदी ने तो…

नीरव मोदी– मेरा भी यही हाल हो गया है यार, मेरा पासपोर्ट भी रद्द कर दिया है इस मोदी सरकार ने… मेरा तो सब कुछ लुट गया…. 

विजय माल्या – मैं तो खुद ही झेल चुका हूं, तुम्हारी खबर पढ़ रहा था तो फिर फोन किए बिना रहा नहीं गया।

नीरव मोदी– क्या बताऊं दोस्त… एक कांग्रेसी राज था। सबको खिलाते-पिलाते अच्छा, खासा चल रहा था… लेकिन क्या करें? नरेन्द्र मोदी तो पीछे ही पड़ गया है।

विजय माल्या – मुझे तो इसका अनुभव हो चुका है। लेकिन तेरा तो ठीक चल रहा था, ये अचानक क्या हो गया?

नीरव मोदी – ठीक क्या खाक चल रहा था… कहो कि कांग्रेसी समय में सेटिंग करके जो साढ़े ग्यारह हजार का लोन लिया… उस पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहा था। चार साल बीत ही चुके थे। एक साल बाद फिर कांग्रेसी सरकार आ जाती तो फिर समय बदल जाता, लेकिन जबसे मोदी सरकार को पता चला है, वो तो मुझे कंगाल करने के पर तुल गई है।

विजय माल्या– So Sad

नीरव मोदी– क्या बताएं यार, अब तक 5 हजार 649 करोड़ की संपत्ति मोदी सरकार ने अपने कब्जे में ले ली है। हैदराबाद का 3800 करोड़ की संपत्ति पर भी कब्जा कर लिया है। मुंबई, दिल्ली, पटना सब जगह रेड कर चुका है। हमारे सभी शो रूम को सील कर दिया है। विदेशों में हमारे शो-रूम को भी बंद करने की तैयारी कर रहा है।

विजय माल्या– ये तो बहुत बुरा हो हुआ तेरे साथ।

नीरव मोदी– अरे इतना ही नहीं… इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने मेरी और मेरे परिवार की 29 संपत्तियां और 105 बैंक अकाउंट भी जब्त कर लिया है। मेरे पार्टनर मेहुल चोकसी की भी संपत्ति को भी कब्जे में ले लिया है।

विजय माल्या– अरे यार कुछ सेट करने की कोशिश नहीं की?

नीरव मोदी– सेट करने की कोशिश तो की थी लेकिन मोदी के लोगों ने उसका डायलॉग सुना दिया – ‘न खाऊंगा न खाने दूंगा’… अब बताओ भला ये भी कोई बात हुई? ऐसे शासन चलता है क्या? इससे तो अच्छी कांग्रेस थी भाई… ‘खाओ और खिलाओ’ यही तो चलता था। हम भी आराम से थे और वे भी खुश थे!

विजय माल्या– हां देखो न भाई, कैसे टू जी केस में ए राजा और कनीमोई बरी हो गईं। सब सेट हो सकता है। कांग्रेस ने तो इतना कुछ कर दिया कि पहले चार्जशीट कमजोर की, फिर सबूत भी नहीं छोड़ा… इसके बाद तो जज भी क्या करेंगे जब केस ही कमजोर कर दिया… ऐसे ही तो मदद की जा सकती है। 

नीरव मोदी– लेकिन मोदी कहां मानने वाला है भाई। पहले नोटबंदी करके हमारी कमर तोड़ दी, फिर एंटी ब्लैकमनी कानून बनाकर हमें लपेट दिया। बेनामी संपत्ति एक्ट जैसे कानून तो हम जैसों के लिए नासूर है भाई।

विजय माल्या–  मेरा भी तो सबकुछ लुट गया भाई… मेरी एक भी संपत्ति नहीं छोड़ी… सब अटैच कर लिया है… मेरी तो हर एक चीज सरकार के कब्जे में है। कांग्रेस थी तो कारोबार ठीक से चल रहा था।

नीरव मोदी– हां भाई, जिनकी मिलीभगत से मेरा कारोबार चलता था, उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है। फर्जी LoU जारी कराने वाले पीएनबी के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी के साथ कर्मचारी मनोज खराट और मेरी कंपनी के कर्मचारी हेमंत भट्ट को गिरफ्तार कर लिया है। पता नहीं तीनों ही सीबीआई को मेरे बारे में क्या बताएगा? मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा, मैं क्या करूं?

विजय माल्या– हां भाई, मैं भी इतने कानूनी पचड़े में पड़ गया हूं कि समझो लुट ही गया हूं… खैर और बताओ भाई…

नीरव मोदी– … और क्या हाल बताऊं? मुझपर तो विदेश में अवैध संपत्ति बनाने के लिए नई एंटी-ब्लैक मनी ऐक्ट के तहत भी केस दर्ज किया गया है। नए कानून के तहत अघोषित विदेशी संपत्ति और आय पर 120 प्रतिशत का भारी भरकम जुर्माना लगाने का प्रावधान भी है… इसमें दस साल जेल की सजा भी हो सकती है। इतना ही नहीं… इनकम टैक्स की विभिन्न धाराओं के तहत नई चार्जशीट भी दाखिल की जा चुकी है। अब तो लगता है नहीं बचूंगा भाई।

विजय माल्या– कुछ तो सेट करने की कोशिश करते भाई।

नीरव मोदी– क्या बताऊं भाई साहब,  मुझे तो लगा कि मैं भी मोदी हूं… गुजराती भी हूं… कुछ तो बात बन ही जाएगी… सेट कर लेंगे.. लेकिन ये तो सख्त जान है… छोड़ेगा नहीं !

विजय माल्या– क्यों चिंता करते हो भाई, कांग्रेस की सरकार एक बार फिर आने दो… देख लेंगे… सब ठीक हो जाएगा… अपना तो पुराना नाता है उसके साथ। मुझे राज्यसभा में भी तो कांग्रेस ने ही भेजा था। उन्हीं की बदौलत तो मैं इतनी ऊंचाई तक पहुंचा था, लेकिन ये मोदी आ गया… सब कबाड़ा कर दिया।

नीरव मोदी– हां भाई साहब, हमलोगों के एकजुट होने का समय आ गया है … नहीं तो ये मोदी फिर आ गया तो अपने जैसों की तो खैर नहीं होगी… जीना मुहाल कर देगा… इसलिए कांग्रेस को लाना जरूरी है।

विजय माल्या– हां अपने जैसे बाकी लोगों को भी इकट्ठा करने की कोशिश करता हूं…. कांग्रेस को लाना जरूरी है भाई… ।

नीरव मोदी– मिलते हैं… कुछ तो करेंगे ही… कांग्रेस के संपर्क में हूं…  मोदी को उखाड़ फेकेंगे… 2019 में तो उसे किसी कीमत पर नहीं आने देना है…

विजय माल्या– मिलते हैं… बाय..

नोट- ये बातचीत कल्पना पर आधारित है।  

LEAVE A REPLY