Home विशेष पीएम मोदी के नेतृत्व में सेना ने दिखाया दम, 5 सर्जिकल स्ट्राइक...

पीएम मोदी के नेतृत्व में सेना ने दिखाया दम, 5 सर्जिकल स्ट्राइक से थर्र-थर्र कांप उठे हैं दुश्मन

310
SHARE

भारतीय सेना हमेशा से सशक्त और सक्षम रही है। उसमें दुश्मनों के दांत खट्टे करने की असीम क्षमता है। उसे दिशा दिखाने के लिए सिर्फ एक क्षमतावान नेतृत्व की दरकार थी और पिछले साढ़े तीन वर्षों से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वह जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं। इसी का परिणाम है कि भारतीय सेना ने अबतक एक-दो नहीं, कम से कम 5 बार दुश्मनों के इलाके में घुसकर शत्रुओं को मौत के घाट उतारा है।

पीओके में घुसकर पाकिस्तानी सैनिकों को किया ढेर
पाकिस्तानी सेना की ओर से जम्मू के पुंछ में चकना दा बाग सेक्टर में भारतीय चौकियों और आबादी वाले क्षेत्र में की गई गोलाबारी का भारतीय सेना ने तत्काल मुंहतोड़ जवाब दे दिया है। जवाबी कार्रवाई में भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के 59 बलूच यूनिट के 12 डिवीजन में घुसकर तीन पाकिस्तानी सैनिकों का सफाया कर दिया है। इस कार्रवाई में एक पाकिस्तानी जवान घायल भी हो गया और कई पाकिस्तानी चौकियां तबाह हो गईं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आईएसआई ने भी इस सर्जिकल स्ट्राइक की पुष्टि की है। खुशी की बात ये है कि भारतीय सेना ने शनिवार (23 दिसंबर, 2017) को पाकिस्तानी सेना की फायरिंग में शहीद हुए एक मेजर और तीन जवानों के बलिदान का बदला दो दिनों के भीतर ही ले लिया है।

प्रतिकात्मक तस्वीर

पीओके में घुसकर आतंकियों के लॉन्च पैड किए थे तबाह
देश के इतिहास में भारतीय सेना ने सबसे बड़ा सर्जिकल स्ट्राइक 28-29 सितंबर, 2016 की आधी रात में पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में किया था। तब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सेना को जनवरी, 2016 के उरी एयरबेस पर हुए आतंकी हमले का बदला लेने का आदेश दिया था। इस सर्जिकल स्ट्राइक में भारतीय सेना ने पीओके में घुसकर लगभग दो दर्जन आतंकियों के लॉन्च पैड तबाह कर दिये थे। सेना की इस अदम्य साहसिक कार्रवाई में आतंकी लॉन्च पैड में मौजूद 40-50 भाड़े के आतंकी और कई पाकिस्तानी सैनिक मारे गए थे। भारतीय सेना के इस अभियान से आतंकियों की ऐसी कमर टूटी की उन्हें संभलने में काफी समय लग गया। उस सर्जिकल स्ट्राइक में भारतीय सैनिकों के हौसले को देखकर पूरी दुनिया दंग रह गई।

प्रतिकात्मक तस्वीर

पीओके में 10 पाकिस्तानी पोस्ट तबाह किए
इसी साल 9 मई को भारतीय सेना ने नौशेरा सेक्टर से लगे पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में 10 पाकिस्तानी पोस्टों को तबाह कर दिया। सेना ने बाद में इस कार्रवाई की तस्वीरें भी जारी की थी। उन तस्वीरों में एक जंगली इलाके में विस्फोट के बाद पाकिस्तानी सेना के बंकर तबाह होते दिखाई दे रहे थे। जानकारी के अनुसार दो भारतीय सैनिकों के सिर काटे जाने के 9 दिन बाद ही भारतीय सेना ने अपना बदला ले लिया था। गौरतलब है कि उन पाकिस्तानी चौकियों से पाकिस्तानी सेना और आतंकवादी भारत विरोधी कार्रवाई को अंजाम देते थे।

मोदी सरकार की पहली सर्जिकल स्ट्राइक
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार में भारतीय सेना ने पहली सर्जिकल स्ट्राइक म्यांमार में की थी। घटना जून, 2015 की है जब भारतीय सेना के कमांडो दस्ते ने मणिपुर में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन के खिलाफ म्यामांर में घुसकर जबर्दस्त कार्रवाई की थी। उस ऑपेरशन में भी कई उग्रवादी ढेर कर दिए गए थे और म्यामांर की धरती पर चल रहे उनके अवैध कैंप तबाह कर दिए गए थे। 

भारतीय सेना (फाइल फोटो)

म्यामांर सीमा के पास सर्जिकल स्ट्राइक
इसी साल सितंबर महीने में भारतीय सेना ने फिर एकबार म्यांमार की सीमा के पास भारत विरोधी उग्रवादियों को निशाना बनाया था। इस कार्रवाई में लांग्खू गांव के पास नगा उग्रवादियों को भारी नुकसान पहुंचा था और उनके कई कैंप तबाह कर दिए गए थे। सेना के स्पेशल कमांडो के हमले में एनएससीएन (खापलांग) गुट के कई उग्रवादी ढेर हो गए। गौरतलब है कि यह इलाका भारत-म्यांमार बॉर्डर से करीब 10-15 किमी दूर है। यहां नगा उग्रवादी घात लगाकर भारतीय सेना पर बड़े हमले की साजिश कर रहे थे।

भारत-म्‍यांमार बॉर्डर

LEAVE A REPLY