Home समाचार बेटी के लिए वरदान सुकन्या समृद्धि योजना

बेटी के लिए वरदान सुकन्या समृद्धि योजना

1575
SHARE
फाइल फोटो

बेटी घर की लक्ष्मी है। शक्ति स्वरूपा है। बेटी की पढ़ाई और उसकी शादी आप टेंशन फ्री होकर कर सकें इसके लिए सरकार हर कदम आपके साथ है। पैसे की टेंशन को दूर करने के लिए मोदी सरकार की एक स्कीम है सुकन्या समृद्धि योजना। देश की बेटी आत्मनिर्भर बने और तरक्की करे, इसके लिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कैंपेन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनवरी 2015 में सुकन्या समृद्धि योजना शुरू की थी।

अब देश की हर बच्ची का भविष्य सुरक्षित रहेगा और उसका अपना एक सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट होगा। अकाउंट खुलवाना काफी आसान है। आपको बैंक या पोस्ट ऑफिस में बेटी के नाम से खाते खुलवाने होंगे। आमतौर पर जिस बैंक में पीपीएफ अकाउंट खुलते हैं, आप वहां बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि योजना खाता खुलवा सकते हैं।

इसमें आप अपनी दस साल तक की बेटी का खाता खुलवा सकते हैं। इस योजना का फायदा सिर्फ दो बेटियों के लिए ही ले सकते हैं। लेकिन दूसर प्रसव में जुड़वा बेटियां होने पर तीनों के लिए इसका फायदा ले सकते हैं।

इस योजना में आप एक साल में कम से कम एक हजार या ज्यादा से ज्यादा डेढ़ लाख रुपए तक जमा करा सकते हैं। इस खाते से पैसा आप बेटी के 21 साल होने पर ही निकाल सकते हैं। वैसे 18 साल के बाद आधा पैसा निकलाने की सुविधा है। लेकिन अगर आप अपनी बेटी की शादी 18 से 21 साल के बीच में ही कर रहे हैं तो उस वक्त भी पूरा पैसा निकाल सकते हैं। यह खाता 21 साल के बाद अपने-आप बंद हो जाता है।

खाता खुलबाने के लिए आपको बेटी का जन्म प्रमाण पत्र, माता-पिता या अभिभावक का पहचान पत्र और निवास प्रमाण पत्र देने होंगे।

इस खाते में पीपीएफ से ज्यादा ब्याज मिलता है। सुकन्‍या समृद्धि योजना में जमा राशि पूरी तरह से टैक्स फ्री है और उसके ब्याज पर भी कोई टैक्स नहीं लगता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अब तक देश की 91 लाख बच्चियों के अकाउंट खोले और उसमें 6510 करोड़ रूपये जमा किए जा चुके हैं ।

LEAVE A REPLY