Home समाचार सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास ही हमारा मूलमंत्र : झारखंड...

सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास ही हमारा मूलमंत्र : झारखंड में पीएम मोदी

142
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को झारखंड विधानसभा चुनाव के मद्देनजर खूंटी और जमशेदपुर में दो विशाल रैलियों को संबोधित किया। जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज झारखंड के हर व्यक्ति को केंद्र और राज्य सरकार की किसी न किसी योजना का सीधा लाभ पहुंच रहा है। वर्ग, जाति और पंथ के आधार पर भेदभाव किए बिना, हर झारखंडवासी के विकास के लिए समान भावना से हम काम कर रहे हैं। सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास ही हमारा मूलमंत्र है।

पीएम मोदी ने कहा कि झारखंड में पहले चरण के मतदान से 3 बातें स्पष्ट हुई हैं। पहली – लोकतंत्र को मजबूत करने और राष्ट्र निर्माण में झारखंड के लोगों की आस्था अभूतपूर्व है। दूसरी – भाजपा सरकार ने जिस प्रकार नक्सलवाद की कमर तोड़ी है, उससे यहां डर का माहौल कम हुआ है और विकास का माहौल बना है। तीसरी- झारखंड के लोगों में भाजपा सरकार के प्रति एक विश्वास की भावना है।

लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने देश में शांति, एकता, सद्भाव के लिए समस्याओं का समाधान खोजने का प्रयास किया और सफलतापूर्वक आगे बढ़ रहे हैं। केंद्र और झारखंड की भाजपा सरकार ने गांव और जनजातीय अंचलों में महिलाओं को सशक्त करने का काम किया है। उन्होंने कह कि झारखंड देश के उन राज्यों में है, जहां की बहनों को केंद्र सरकार की योजनाओं का लाभ तेजी से तो मिला ही है, डबल लाभ भी मिला है। जैसे उज्जवला योजना के तहत बाकी देश में एक मुफ्त सिलेंडर मिला है, वहीं झारखंड में दो सिलेंडर दिए गए हैं। 

पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा की सरकार ने ही पहली बार आदिवासी क्षेत्रों में डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड की व्यवस्था की, जिसके तहत अब यहां से निकलने वाले खनिज का एक हिस्सा यहीं के विकास में लगाना पड़ता है। झारखंड को इस फंड के तहत 5 हजार करोड़ रुपये मिले है। इस फंड से ही बच्चों के लिए स्कूल और अस्पतालों के निर्माण में सहायता मिल रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने अपनी सरकार के 5 साल में झारखंड के रेल इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 2 हजार करोड़ रुपए आवंटित किए थे, जबकि भाजपा सरकार के दौरान बीते 5 वर्ष में इसका 5 गुना यानि 10 हजार करोड़ रुपए से अधिक झारखंड को मिला है। 2014 से पहले के 5 वर्ष में जहां झारखंड में 300 किलोमीटर से कम की रेल लाइनें चालू हुई, वहीं केंद्र में भाजपा शासन के दौरान करीब 700 किलोमीटर लाइनें खोली गई। उन्होंने कहा कि आजादी के साढ़े 6 दशक तक झारखंड में सिर्फ 3 ही मेडिकल कॉलेज थे। बीते 5 साल में मेडिकल कॉलेजों की संख्या 7 हो चुकी है। इसके साथ ही जो पुराने जिला अस्पताल हैं, मेडिकल कॉलेज हैं, उनके आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण का काम भी आने वाले समय में हम तेज करने वाले हैं।

जमशेदपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 2016 में जब मैं यहां आया था तो मैंने कहा था कि हमारी सरकार दिल्ली तक सीमित रहने वाली सरकार नहीं है। आज भाजपा ने केंद्र सरकार को दिल्ली से बाहर निकालकर देश के कोने-कोने तक पहुंचाया है। दशकों से चली आ रही इस व्यवस्था में परिवर्तन का बहुत बड़ा लाभ झारखंड को मिला है। आज झारखंड भारत के इतिहास की कुछ क्रांतिकारी योजनाओं की गंगोत्री और उद्गम स्थली बना है।

उन्होंने कहा कि 2022 तक देश के हर आदिवासी बहुल ब्लॉक तक एकलव्य मॉडल स्कूल बनाने की शुरुआत भी झारखंड से ही हुई है। इसके अलावा झारखंड की धरती से ही ग्रामोदय से भारत उदय का सफल अभियान भी शुरू किया था और इस साल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का कार्यक्रम भी यहीं किया गया। आयुष्मान योजना जो दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है, उसकी शुरुआत का गौरव झारखंड के खाते में है।

जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि असंगठित क्षेत्र के श्रमिक साथी, जो सड़कों पर काम करते हैं, घरों में, दुकानों में काम करते हैं या रिक्शा-ठेला चलाते हैं, उनकी चिंता पहली बार भाजपा सरकार ने की है। श्रमयोगी मानधन योजना से ऐसे साथियों को 60 वर्ष के बाद पेंशन की सुविधा दी गई है। देश के किसानों, खेत मजदूरों और छोटे दुकानदारों के लिए 60 साल की उम्र के बाद निश्चित पेंशन योजना की शुरुआत का गौरव भी झारखंड को मिला है। 

उन्होंने कहा कि आज जब झारखंड 19 साल का हो गया है तब इस राज्य की जितनी जिम्मेदारी यहां की जनता की है, उतनी ही जिम्मेदारी मेरी है। आइए, हम सब मिलकर काम करें ताकि जब झारखंड 25 साल का हो तब इतना ताकतवर और सशक्त बन जाए कि कभी पीछे मुड़कर देखना न पड़े।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि राम जन्मभूमि विवाद को कांग्रेस और उसके सहयोगियों की सरकारों ने लगातार लटकाए रखा, उसका भी अब शांतिपूर्ण ढंग से समाधान हो गया । उन्होंने कहा कि भगवान राम अयोध्या से जब निकले थे तब तो राजकुमार राम थे और जब 14 साल के वनवास के बाद वापस आए तो मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम बन गए। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि 14 साल भगवान राम ने आदिवासियों के बीच बिताए थे। ये संस्कार हैं आदिवासी भाई-बहनों के। 

पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद से हिंदुस्तान के हर कोने में जम्मू कश्मीर और अनुच्छेद 370 की चर्चा चल रही थी। संविधान में 370 को अस्थाई लिखा था, लेकिन एक टोली उसे स्थाई बनाने में जुटी थी, कोई उसे हाथ लगाने को तैयार नहीं था। अब इसका भी समाधान हो गया है। श्री मोदी ने कहा कि देश की जनता ने मोदी को कठोर निर्णय लेने के लिए भेजा है। मैं राजनीति का हिसाब किताब नहीं करता हूं मैं सिर्फ देशनीति को देखता हूं। इसलिए दशकों से लटका 370 खत्म हो सका। 

झारखंड के खूंटी और जमशेदपुर में प्रधानमंत्री मोदी को सुनने के लिए भारी संख्या में लोग पहुंचे। उन्होंने लोगों से भारी तादाद में मतदान करने और झारखंड में भाजपा की सरकार दोबारा बनाने की अपील की।   

Leave a Reply