Home समाचार मैसूर पगड़ी पहनने से इनकार कर राहुल ने किया कर्नाटक के हिंदुओं...

मैसूर पगड़ी पहनने से इनकार कर राहुल ने किया कर्नाटक के हिंदुओं का अपमान!

838
SHARE

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एक गंभीर नेता बनने की लाख कोशिश करते हैं, लेकिन उनकी हरकतों से उनकी पोल खुल ही जाती है। मैसूर में एक कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी कुछ ऐसा कर बैठे, जिससे कर्नाटक के हिंदुओं का गुस्सा भड़क गया है। दरअसल, 27 मार्च को एक कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी को मंच पर मैसूर पेटा पहनाया जा रहा था, पर राहुल ने उसे पहनने से इनकार कर दिया। बताया जा रहा है कि मैसूर पेटा एक विशेष प्रकार की पगड़ी होती है, जिसे वहां आने वाले मेहमानों को पहनाकर उनका सम्मान करने की परंपरा रही है। राहुल को मैसूर पेटा पहनाकर इसी परंपरा का निर्वाह किया जा रहा था, लेकिन राहुल गांधी ने अपनी हरकत से कर्नाटक के हिंदुओं का दिल तोड़ दिया।

राहुल गांधी का पगड़ी पहनने से इनकार करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कर्नाटक समेत देशभर के लोगों की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। लोगों ने ट्ववीट कर राहुल गांधी को लताड़ लगाई है और कहा कि राहुल गांधी इस सम्मान के लायक है ही नहीं।

लिंगायत को अलग धर्म का दर्जा देकर हिंदुओं को तोड़ा
कर्नाटक एक तरफ राहुल गांधी मंदिरों में जाने का नाटक कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ हिंदुओं को तोड़ने और उनका अपमान करने का कोई मौका भी नहीं चूक रहे हैं। हाल ही में कर्नाटक की कांग्रेस सरकार ने लिंगायत और वीरशैव समुदाय को अलग धर्म का दर्जा देने का फैसला लिया है। दरअसल ऐसा कर सिद्धारमैया सरकार ने आने वाले चुनावों में हिंदुओं को धर्म के नाम पर तोड़कर वोटबैंक की राजनीति चमकाने का काम किया है। कर्नाटक सरकार एक के बाद एक ऐसे फैसले ले रही है जिससे देश की एकता और अखंडता को गहरी चोट पहुंच रही है। अभी हाल ही में सीएम सिद्धारमैया ने कर्नाटक के लिए एक अलग झंडे के प्रस्ताव को मंजूरी दी है जिसका विरोध कर्नाटक के अलावा पूरे देश में किया जा रहा है और अब लिंगायत को अलग धर्म का दर्जा देकर सीएम सिद्धारमैया ने लोगों के विश्वास को तोड़ने का काम किया है। इस मुद्दे पर भी सोशल मीडिया पर लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई थी। 

LEAVE A REPLY