Home समाचार कर्जमाफी के नाम पर नामदारों का दागदार ट्रैक रिकॉर्ड जनता जानती है-...

कर्जमाफी के नाम पर नामदारों का दागदार ट्रैक रिकॉर्ड जनता जानती है- प्रधानमंत्री

142
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि इसबार के बजट में केंद्र सरकार किसानों के लिए जो योजना लायी है, उससे देश के 100 में से 90-95 किसानों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि यही कारण है कि विपक्ष सरकार के इस फैसले से निराश है। उन्होंने कहा कि जब वित्त मंत्री सदन में इसकी घोषणा कर रहे थे, तो विपक्ष का चेहरा लटक गया था। उन्होंने जम्मू में एक महारैली को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

कर्जमाफी से बिचौलियों की जेब मोटी होती है
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि इसबार के बजट में सरकार किसानों के लिए ऐतिहासिक योजना लाई है। इसके तहत 5 एकड़ तक जमीन वाले 12 करोड़ से अधिक छोटे किसान परिवारों को हर वर्ष 6 हजार रुपये सीधे बैंक खाते में मिलेंगे। 2-2 हजार रुपये की तीन किश्तों में दिए जाने वाले इन पैसों की पहली किश्त कुछ ही दिनों में किसानों के खाते में पहुंच जाएंगे। उन्होंने कहा है कि कर्जमाफी से किसान का कर्ज कभी खत्म नहीं होता, बल्कि बिचौलियों की जेब मोटी होती जाती है। कर्जमाफी के नाम पर देश के नामदारों का दागदार ट्रैक रिकॉर्ड भी जनता भलीभांति जानती है। चुनाव आते ही उनको कर्जमाफी का बुखार आ जाता है। इस दौरान उन्होंने किसान कर्जमाफी के नाम पर मध्य प्रदेश, राजस्थान या कर्नाटक में कांग्रेस की नाटकबाजी का भी जिक्र किया। पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार अब जो योजना लाई है, उसका लाभ देशभर के 100 में से 90-95 किसानों को मिलेगा। इसके कारण आने वाले 10 वर्षों में 7.5 लाख करोड़ रुपया सीधे किसानों के खाते में जमा होंगे। उन्होंने कहा कि “‘पीएम किसान समृद्धि योजना’ बीते साढ़े चार वर्ष से किसानों की स्थिति सुधारने के लिए किए जा रहे प्रयासों का एक बड़ा पड़ाव है।”

कश्मीरी पंडितों की पीड़ा हमेशा मन में रही है- पीएम मोदी
पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में भी मां भारती की ऐसी संतानें हैं, जिनके साथ अत्याचार हुआ है, लेकिन उनकी पीड़ा पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। उनके लिए अब सरकार नागरिकता कानून में संशोधन का प्रस्ताव लाई है। उन्होंने कहा कि “हम एक संकल्प के साथ नागरिकता कानून में संशोधन का प्रस्ताव लाए हैं। ये देश के उस संकल्प का हिस्सा है जिसके मुताबिक हम उन सभी लोगों के साथ खड़े रहेंगे, जो कभी भारत का हिस्सा थे, लेकिन 1947 में बनी परिस्थितियों के चलते हम से अलग हो गए। अब अगर आस्था के आधार पर उनका शोषण होता है, तो उनके साथ देश को खड़ा होना जरूरी है। इन सभी लोगों के हकों की रक्षा के लिए भारत हमेशा खड़ा रहेगा। न्याय और उनके जीवन के अधिकारों की रक्षा की जाएगी।” पीएम मोदी ने ये भी कहा कि कश्मीर से विस्थापित पंडितों का विषय बहुत ही भावनात्मक है और केंद्र की सरकार उनके अधिकार, सम्मान और गौरव के लिए प्रतिबद्ध एवं समर्पित है। हिंसा और आतंकवाद के जिस दौर में उन्हें अपना घर छोड़ना पड़ा, जो यातनाएं सहनी पड़ीं, उसे हिंदुस्तान कभी नहीं भूल सकता और उनकी यह पीड़ा हमेशा उनके मन में रही है। आज उन्हें संतोष है कि तीन-साढ़े तीन साल पहले कश्मीरी पंडितों के लिए पहल के तौर पर शुरू की गई बांदीपुर-गांदरबल ट्रांजिट एकोमोडेशन विस्तार योजना का भी शिलान्यास हो रहा है। पीएम मोदी ने कहा प्रधानमंत्री पैकेज के तहत राज्य में कश्मीरी पंडितों के लिए जिन 3 हजार पदों पर नियुक्ति की बात थी, उसपर भी काम शुरू हो चुका है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बीते दिनों जिस तरह से लोगों ने राज्य में पंचायत चुनाव में हिस्सा लिया, 70 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ, हिंसा की कोई घटना नहीं हुई, यह अपने आप में अभूतपूर्व है। पीएम ने कहा कि अब वहां आतंकवाद से सख्ती से निपटा जा रहा है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने शहीद नजीर अहमद वानी, औरंगजेब और इम्तियाज अहमद मीर जैसे वीरों को भी श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि हर शहीद के परिवार को वे विश्वास दिलाते हैं कि सरकार आपके साथ हर कदम पर खड़ी रहेगी। उन्होंने कहा कि सीमा के पास रहने वालों की सुरक्षा के लिए 14 हजार बंकर भी बनाए जा रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर में कई विकास परियोजनाओं की शुरुआत
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जम्मू में विकास को गति देने वाली करीब 6 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया। इसमें जम्मू में बनने वाले 750 बेड का अत्याधुनिक एम्स और अनंतनाग, बारमूला, डोडा,कठुआ और राजौरी में 5 मेडिकल कॉलेज का काम भी शामिल है। इनके लिए 750 करोड़ रुपये से ज्यादा का फंड भी जारी कर दिया गया है। अभी तक जम्मू-कश्मीर में एमबीबीएस की 500 सीटें ही थीं, इसके बाद ये दोगुनी हो जाएंगी। इसके अलावा कठुआ में इंजीनियरिंग कॉलेज और जम्मू में आईआईएमसी का नया कैंपस प्रोफेशनल एजुकेशन में युवाओं को नया अवसर देगा। जम्मू में आईआईटी की नई बिल्डिंग का काम पूरा हो चुका है और आईआईएम की बिल्डिंग का काम भी शुरू होने वाला है। पीएम मोदी ने कहा है कि केंद्र सरकार युवाओं को समान अवसर देने के लिए समर्पित है, जिसके लिए सामान्य वर्ग के गरीब युवाओं को शिक्षा और सरकारी सेवाओं में 10 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। इसके लिए सरकार देशभर के शैक्षणिक संस्थानों में करीब 25% सीटों में भी वृद्धि करने जा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य में यातायात और बाकी इंफ्रास्ट्र्चर को भी मजबूत किया जा रहा है। 40 हजार करोड़ रुपये के प्रधानमंत्री विकास पैकेज के तहत सड़क, पुल, सुरंग और एनएच का काम तेजी से शुरू हो गया है। चिनाब नदी पर बनने वाले पुल से सजवाल से इंद्रीपट्टन की दूरी 50 किलो मीटर से घटकर 5 किलो मीटर रह जाएगी। 2100 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे चेनानी- सुध महादेव- गोहा सड़क की सारी बाधाओं को भी दूर कर लिया गया है और अब इसपर तेजी से काम होगा। जम्मू-अखनूर-पुंछ हाइवे पर 5100 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे जम्मू-अखनूर सेक्शन पर भी तेजी से काम चल रहा है। पीएम ने बताया कि रातले हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट को चलाने की व्यवस्था भी कर ली गई है, जिसके पूरा होते ही राज्य को 850 मेगा वॉट अतिरिक्त बिजली मिलेगी। वहीं, 40 साल से लटके हुए शाहपुर-कंडी बांध परियोजना पर भी अब जम्मू-कश्मीर ने पंजाब से समझौता कर लिया है। इससे राज्य को बिजली मिलने के अलावा सांबा और कठुआ जिलों की 32 हजार हेक्टेयर भूमि को सिंचाई के दायरे में लाया जा सकेगा।

महारैली की कुछ और तस्वीरें:

LEAVE A REPLY