Home समाचार भारतीय दर्शन के अनुरूप हो जलवायु कार्ययोजना: प्रधानमंत्री मोदी

भारतीय दर्शन के अनुरूप हो जलवायु कार्ययोजना: प्रधानमंत्री मोदी

604
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जलवायु संबंधी कार्ययोजना की कामयाबी के लिए जरूरी है कि वह प्रकृति का आदर करने के भारतीय दर्शन के अनुरूप हो। द एनर्जी एंड रिसोर्स इंस्टीट्यूट (टेरी) की ओर से आयोजित विश्व सतत विकास सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय दर्शन प्रकृति के साथ सह-अस्तिव में विश्वास रखता रहा है।

प्रधानमंत्री ने मानवता और जीवन के अस्तित्व को बनाए रखने के लिए दुनिया के विकसित देशों से तकनीकी सहयोग बढ़ाने की अपील की। जिससे विकास का मौका भी सभी को समान रूप से मिले और पर्यावरण भी बना रहे।

उन्होंने सम्मेलन में कहा कि भारत प्रकृति के प्रति अपनी जिम्मेदारियों की तरफ एक-एक कदम बढ़ा रहा है। साथ ही कहा कि भारत सरकार ने वंचितों को सुविधाए देकर इस ओर कदम बढ़ाया है।

साथ ही उन्होने कहा कि ऊर्जा जरुरत के लिए भारत तेजी से साथ वैकल्पिक ऊर्जा क्षेत्र में बढ़ रहा है।

 

 
देखिए वीडियो-

LEAVE A REPLY