Home समाचार देश के सामान्‍य से सामान्‍य मानव की आशा-अपेक्षाओं को पूर्ण करने वाला...

देश के सामान्‍य से सामान्‍य मानव की आशा-अपेक्षाओं को पूर्ण करने वाला बजट आएगा-प्रधानमंत्री मोदी

232
SHARE

संसद के बजट सत्र के प्रारंभ होने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को मीडिया से संसद भवन में बातचीत की। प्रधानमंत्री ने सभी राजनीतिक दलों से आग्रह करते हुए कहा कि इस सत्र में मुस्लिम महिलाओं के हक की रक्षा करने वाले तीन तलाक  विधेयक को पारित करें, उन्होंने कहा कि नये वर्ष का मुस्लिम महिलाओं को हमारी तरफ से यह उत्तम भेंट होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बजट सत्र अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण होता है। पूरा विश्‍व भारत की अर्थव्‍यवस्‍था के प्रति बहुत ही आशावान है। भारत की राह, भारत की प्रगति पर विश्‍व की सभी credit rating agencies चाहे वह World Bank हो, IMF हो,बहुत ही सकारात्‍मक राय देती रही हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने 1 फरवरी को पेश होने वाले बजट के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि देश की तेज की गति से आगे बढ़ रही अर्थव्‍यवस्‍था को एक नई ऊर्जा देने वाला बजट होगा। इस बजट से देश के सामान्‍य से सामान्‍य मानव की आशा-अपेक्षाओं को पूर्ण किया जाएगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि बजट पेश होने के बाद संसद की विभिन्न कमेटियों में बजट पर विस्तार पूर्वक होने वाली चर्चा से देश को एक नई दिशा मिलेगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि मैंने कल  All party meeting में आग्रह किया है कि सत्र के बाद कमिटियों का भरपूर उपयोग विभिन्न विषयों पर चर्चा करने के लिए किया जाए और बजट का सर्वाधिक लाभ देश के सामान्‍य मानव तक कैसे पहुंचे इस पर विचार हो। इस पर विचार हो कि दलित, पीडि़त, शोषित, वंचित को कैसे लाभ मिले? गांव के गरीब को कैसे लाभ मिले? किसान मजदूर को कैसे लाभ मिले? इस पर समीतियों में व्‍यापक चिंतन हो, समीतियां सकारात्‍मक सुझाव दें और Roadmap बना करके दें जिस पर हम आगे बढ़ें।

इस तरह से प्रधानमंत्री मोदी ने बजट सत्र की शुरुआत में सभी राजनीतिक दलों से देश के विकास में एक साथ आने का आग्रह किया।

पीएम मोदी का पूरा बयान यहां सुनिए:-

 

LEAVE A REPLY