Home समाचार पीएम की सलाह के बाद पर्यटकों को मिली सुविधा, स्मारकों की तस्वीर...

पीएम की सलाह के बाद पर्यटकों को मिली सुविधा, स्मारकों की तस्वीर लेने से प्रतिबंध हटा

71
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर देशभर के स्मारकों से फोटो खींचने पर से प्रतिबंध हटा लिया गया है। इस प्रतिबंध के हट जाने से पर्यटकों में स्मारकों को देखने, उसे क्षण को यादगार बनाने का उत्साह काफी बढ़ेगा। पर्यटकों के लिए पीएम मोदी का यह नायाब तोहफा है। स्मार्ट फोन के इस युग में स्मारकों की तस्वीर लेने पर प्रतिबंध के नियम हट जाने से पर्यटकों का उत्साह कई गुणा बढ़ाने वाला है। हर पर्यटक इस सुविधा का लाभ लेना चाहेगा। उसे अपनी यादों को सहेजकर रखना चाहेगा।

पीएम की सलाह पर जारी हुआ आदेश
पीएम के संबोधन के बाद एएसआई ने इसको लेकर एक आदेश जारी किया। एएसआई की महानिदेशक की मंजूरी के बाद अतिरिक्त महानिदेशक उर्मिला संत शर्मा ने आदेश जारी किया। जारी आदेश के अनुसार, अजंता-एलोरा की गुफाएं, ताजमहल का मुख्य कब्र स्थल व लेह पैलेस की पेंटिंग को छोड़कर सभी स्मारकों व साइट्स पर फोटो खींचने की पाबंदी हटा ली गई है। हालांकि, इस आदेश में एएसआई के संग्रहालयों का जिक्र नहीं है, यानी संग्रहालयों में फोटो खींचने पर प्रतिबंध जारी रहेगा।

पीएम मोदी ने साझा किए अनुभव, फोटो की अनुमति से पर्यटन को बढ़ावा
दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी 12 जुलाई को भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के मुख्यालय भवन का उद्घाटन करने आए थे। उन्होंने उद्घाटन समारोह में उपस्थित महानुभावों के बीच ऐतिहासिक स्थानों और स्मारकों की फोटो खींचने पर लगे प्रतिबंध को लेकर चुटकी ली और गुजरात के सरदार सरोवर बांध को लेकर एक अनुभव साझा किया। पीएम मोदी ने कहा कि जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री बना तो मैंने देखा कि सरदार सरोवर डैम पर बांध पर बोर्ड लगे हैं कि यहां फोटो खींचना मना है। मुझे यह अटपटा लगा। मैंने बोर्ड को उल्टा करवा दिया और कहा कि वहां जो सबसे अच्छी फोटो खींचेगा, उसे पुरस्कृत किया जाएगा, बाद में टिकट भी लगा दिया। हमने घोषणा की कि यहां आने वाले पर्यटकों की क्रम संख्या में पांच लाख के नंबर पर जो पर्यटक पहुंचेगा, उसे पुरस्कृत किया जाएगा। इसका असर यह हुआ कि जो पांच लाखवां पर्यटक आया, वह बारामूला का जोड़ा निकला। हमने उसे पुरस्कृत किया।

LEAVE A REPLY