Home समाचार सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह: बिहार ने दिखाया देश को रास्ता- पीएम मोदी

सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह: बिहार ने दिखाया देश को रास्ता- पीएम मोदी

124
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह के समापन के अवसर पर सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह अभियान में देशभर से जुटे हजारों स्वच्छाग्रहियों को संबोधित किया। श्री मोदी ने कहा कि आज से 100 वर्ष पहले इसी चंपारण में महात्मा गांधी ने चंपारण सत्याग्रह शुरू किया था। आज इतिहास फिर से दोहरा रहा है और, जिस तरह 100 वर्ष पहले सत्याग्रह में लोग जुटे थे, उसी तरह स्वच्छाग्रह में देशभर से हजारों लोग जुटे हैं। महात्मा गांधी द्वारा स्वच्छता पर विशेष जोर देने का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सत्याग्रह की तरह ही आज स्वच्छाग्रह, देश के लाखों-करोड़ों लोगों के जीवन को नई दिशा दे रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब तब देश का हर व्यक्ति अपने स्तर से स्वच्छता के लिए प्रयास नहीं करेगा, अपने जीवन का हिस्सा नहीं बनाएगा, तब तक स्वच्छ भारत मिशन पूरा नहीं हो पाएगा।

तेजी से बढ़ रहा है स्वच्छता का दायरा
श्री मोदी ने पिछले सौ वर्षों में हर कसौटी के वक्त बिहार द्वारा अगुवाई करने का जिक्र करते हुए कहा कि आज एक बार फिर बिहार सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह की इस यात्रा की अगुवाई कर रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के नेतृत्व में बिहार ने स्वच्छता के आंदोलन को आगे बढ़ाया है। पहले देश में बिहार ही एक मात्र ऐसा राज्य था, जहां स्वच्छता का दायरा 50 प्रतिशत से कम था, लेकिन पिछले एक हफ्ते के अंदर यहां 8 लाख 50 हजार से ज्यादा शौचालयों का निर्माण किया गया है। इस आंकड़े से लगता है कि जल्द ही बिहार स्वच्छता का दायरा बढ़ाकर राष्ट्रीय औसत तक ले आएगा। पीएम मोदी ने बताया कि 2014 में जब स्वच्छता मिशन शुरू हुआ था तब देश में स्वच्छता का दायरा सिर्फ 40 प्रतिशत से कम था और आज चार वर्षों के बाद स्वच्छता का दायरा दोगुना बढ़कर 80 प्रतिशत हो गया है। आज देश के 350 से ज्यादा जिले, 3.5 लाख गांव खुद को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर चुके हैं। देश में अब तक 7 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया जा चुका है। पिछले एक हफ्ते के भीतर ही बिहार, यूपी, उड़ीसा और जम्मू-कश्मीर में 26 लाख शौचालयों का निर्माण किया गया है। श्री मोदी ने कहा कि स्वच्छता अभियान का सबसे अधिक फायदा देश की करोड़ो-करोड़ महिलाओं को मिला है।

आम लोगों की भागीदारी एक मिसाल
श्री मोदी ने कहा कि स्वच्छता अभियान में जिस तरह के देश के आम लोगों ने भागीदारी की है, वो एक मिसाल है। मोतिहारी की ऐतिहासिक झील के पुनरुद्धार का शुरू किया जा रहा है, भविष्य में यह झील यहां पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनेगी। बेतिया में अमृत योजना के तहत 100 करोड़ की लागत से पेयजल की आपूर्ति की परियोजना का शिलान्यास किया गया। पीएम मोदी ने बताया कि गंगा को निर्मल करने के लिए गंगोत्री से गंगा सागर तक स्वच्छता अभियान चलाया रहा है। इसी के गंगा में घरों और फैक्ट्री के दूषित पानी को प्रवाह को रोकने के लिए बिहार में अब तक 3 हजार करोड़ से ज्यादा के 11 प्रोजेक्ट की मंजूरी दी जा चुकी है। इस राशि से 11 सौ किलोमीटर से लंबी सीवेज लाइन बिछाने की योजना पर काम किया जा रहा है। श्री मोदी ने बताया की जिन पांच राज्यों से होकर गंगा बहती है, वहां गंगा किनारे के गांवों में कचरा प्रबंधन की योजनाएं चलाई जा रही हैं।

कई परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण
इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार से जुड़ी 6,600 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। श्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार बिहार समेत पूरे पूर्वी भारत की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए योजनाएं बना रही हैं। सरकार के विशेष ध्यान कनेक्टिविटी सुधारने पर हैं। 21वीं सदी की आवश्यकताओं को देखते हुए इन इलाकों में हाईवे, रेलवे, वॉटरवे, आईवे का विकास किया जा रहा है। पीएम मोदी ने इस अवसर पर औरंगाबाद से चोरदह तक 4 लेन से 6 लेन बनाने के 900 करोड़ रुपये के नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया। चंपारण के लिए दो रेल परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया गया। पीएम मोदी ने चंपारण सत्याग्रह के सौ वर्ष के अवसर पर कटिहार से पुरानी दिल्ली तक चलने वाली चंपारण हमसफर एक्सप्रेस नाम की नई ट्रेन को भी हरी झंडी दिखाई। इस अवसर पर श्री मोदी ने मधेपुरा में इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव फैक्ट्री के फेज वन का भी लोकार्पण किया गया है। ये फैक्ट्री में मेक इन इंडिया के तहत दुनिया में सबसे शक्तिशाली इलेक्ट्रिक इंजन तैयार होंगे। प्रधानमंत्री ने इस फैक्ट्री में बने 12 हजार हॉर्स पावर वाले पहले इंजन को हरी झंडी भी दिखाई। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस प्रोजेक्ट को 2007 में मंजूरी दी गई थी लेकिन पूर्व की सरकार ने अपनी लटकाने, भटकाने, अटकाने की नीति की तहत इसकी फाइल को 8 वर्षों तक दबाकर रखा था, लेकिन एनडीए सरकार ने इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया। अब इसका पहले फेज पूरा हो चुका है। प्रधानमंत्री ने मोतिहारी और सुगौली में LPG प्लांट लगाने के प्रोजेक्ट्स का भी शिलान्यास किया।

LEAVE A REPLY