Home नरेंद्र मोदी विशेष कश्मीर में भाजपा का विजय घोष सीमा पार भी कुछ लोगों की...

कश्मीर में भाजपा का विजय घोष सीमा पार भी कुछ लोगों की नींद उड़ाएगा- प्रधानमंत्री मोदी

374
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज जम्मू कश्मीर और उत्तर प्रदेश के चुनावी दौरे पर हैं। जम्मू कश्मीर के कठुआ में एक विशाल जनसभा को संबोधित करने के बाद पीएम मोदी उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ और मुरादाबाद में चुनावी जनसभाओं को संबोधित करने वाले हैं। कठुआ में उन्होंने जम्मू कश्मीर को भारत का अटूट हिस्सा करार देते हुए आतंकवाद और अलगाववाद पर कड़ा प्रहार किया। कांग्रेस की ढीली-ढाली नीतियों की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि भारत अब बदल चुका है। अब आतंकवादियों की धमकी से सरकार दुबक कर बैठने वाली नहीं है। अब हम आतंकवादियों को उनके घर में घुसकर मारते हैं। 

पीएम मोदी ने कहा, “भारत के लोकतंत्र की ताकत को आपने पहले चरण के मतदान में सिद्ध किया है। जम्मू और बारामूला में भारी मतदान कर आपने आतंकियों के आकाओं, पाकपरस्त अवसरवादियों और निराशा में डूबे महामिलावटियों को एक कड़ा झटका दिया है। मैं पूरे देश का दौरा कर यहां आया हूं। जम्मू आने के बाद अनेक राज्यों में जाकर फिर आया हूं। पूरे देश में मैंने वर्ष 2014 से भी ज्यादा जबर्दस्त लहर देखी है।” सेना एवं केंद्रीय बलों के जवानों और जम्मू कश्मीर पुलिस के जवानों को नमन करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सैनिकों की तपस्या और शौर्य के साथ पूरा देश खड़ा है। नेता आते-जाते रहते हैं, लेकिन देश हमेशा-हमेशा रहेगा। यह देश है, तभी राष्ट्ररक्षा और राष्ट्रवाद का भाव है।

पीएम मोदी ने कहा कि अब देश के हालात बदल गए हैं। वो दिन लद गए जब धमकियों से भारत की सरकार दुबक जाती थी। यह नया हिन्दुस्तान है। आतंकियों को घर में घुसकर मारेगा। देश के भीतर और बाहर की अलगाववादी शक्तियों की गतिविधियों की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “मैं एक बात साफ करना चाहता हूं। जम्मू कश्मीर, भारत का अटूट अंग है । बाबा साहेब अम्बेडकर ने कहा था कि वंशवाद लोकतंत्र का सबसे बड़ा दुश्मन है। बाबा साहेब को सच्ची श्रद्धांजलि देने का मतलब होता है, वंशवाद के खिलाफ वोट डालना। जम्मू हो, कश्मीर हो, लेह-लद्दाख हो- यहां का बच्चा-बच्चा भारतीय है। यहां का नागरिक कुछ मुट्ठीभर लोगों की इच्छाओं का गुलाम नहीं हो सकता है। यही वो धरती है, यही वो कठुआ है, जहां पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने तिरंगा फहराया था और हमारे श्रद्धेय प्रेमनाथ डोगरा जी ने उनका साथ दिया था। उन्होंने देश विरोधी हर ताकत को ललकारा था और कहा था कि एक देश में ‘दो विधान, दो प्रधान, दो निशान’ नहीं चलेंगे। श्यामा प्रसाद जी का वो संदेश भाजपा का वचनपत्र है, पत्थर की वो लकीर है, जिसे कोई मिटा नहीं सकता।“

पीएम मोदी ने कहा, “यह चौकीदार पूरे सम्मान के साथ कश्मीरी पंडितों को अपनी जमीन पर बसाने के लिए प्रतिबद्ध है। यह काम शुरू हो चुका है। इसी तरह पाकिस्तान और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से मां भारती में आस्था रखने वाले जो परिवार मजबूरन यहां आए हैं, उनके लिए नागरिकता कानून बनाने के लिए हम लगातार कोशिश कर रहे हैं। 23 मई को चुनाव का नतीजा आएगा, फिर एक मोदी सरकार बनेगी, तब नागरिकता से जुड़े कानून को पास कराने के लिए फिर से कोशिश की जाएगी।”

शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े केंद्र सरकार के कई विकास कार्यों का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ”2014 में जो वोट आपने दिया था, उसकी वजह से ही सीमा से सटे परिवारों को आरक्षण का लाभ मिल पाया है। आपके एक वोट से सामान्य वर्ग के गरीब परिवारों को भी शिक्षा और नौकरी में आरक्षण मिल पाया है।18 अप्रैल को आपका वोट सुरक्षा, समृद्धि और सम्मान की इस यात्रा को और तेज करेगा। कश्मीर में भाजपा का विजय घोष सीमा पार भी कुछ लोगों की नींद उड़ाएगा। आपका एक-एक वोट और माता का आशीर्वाद इस चौकीदार को मजबूत करेगा।”

Leave a Reply