Home चुनावी हलचल त्रिपुरा की रैली में वाम सरकार पर बरसे प्रधानमंत्री मोदी

त्रिपुरा की रैली में वाम सरकार पर बरसे प्रधानमंत्री मोदी

407
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को त्रिपुरा में अगरतला में दो चुनावी सभाओं को संबोधित किया।  शांतिर बाजार और अस्थबल मैदान में आयोजित दोनों जनसभाओं में प्रधानमंत्री को सुनने के लिए भारी जन सैलाब उमड़ा था। हालत यह रही कि जितने लोगों रैली स्थल पर थे उससे चार गुने लोग रैली स्थल के बार खड़े हुए थे। लोगों के प्यार से अभिभूत प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि “मैं आपके प्यार का बहुत आभारी हूं, ऐसा प्यार किसी को नसीब नहीं होता है, जो अगरतला मुझे दे रहा है। मैं ये प्यार ब्याज समेत चुकता करूंगा। मैं वादा करता हूं, जो आप दे रहे हैं आपको विकास करके उससे ज्यादा लौटाऊंगा।“

पीएम मोदी ने त्रिपुरा की दो दशक पुरानी वाम सराकर पर निशाना साधते हुए कहा कि वाम सरकार ने त्रिपुरा को बर्बाद करके रख दिया है। अब इस सरकार पर हार का खतरा मंडरा रहा है। यही वजह है कि राज्य सरकार हिंसा पर उतर आई है। प्रधानमंत्री ने पिछले हफ्ते बीजेपी कार्यकर्ता मधुसूदन की हत्या का जिक्र किया और कहा कि पिछले एक वर्ष में बीजेपी के दस कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है। उन्होंने प्रदेश की जनता से 18 फरवरी को मतदान के दिन इन शहीद कार्यकर्ताओं  को श्रद्धांजलि देने के लिए कमल निशान का बटन दबाने की अपील की।  

पीएम मोदी ने कांग्रेस पार्टी को वोट कटवा बताते हुए निशाना साधा और कहा कि दिल्ली में वाम दल और कांग्रेस दोस्ती करते हैं, लेकिन त्रिपुरा में दोनो कुश्ती करने का नाटक कर रहे हैं। श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस और वामदल दोनों एक ही सिक्के को दो बाजू हैं। कांग्रेस भ्रष्टाचार में माहिर है तो सीपीएम हिंसा में पारंगत है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 20-25 सालों से इन्होंने जो मौज की है, उसका हिसाब देना का वक्त आ गया है।

उन्होंने कहा, ‘मुझे बताया गया कि अभी-अभी अगरतला में ट्रैफिक सिगनल लगाए गए हैं। इसको वे बड़ा काम मानते हैं। यहां ट्रैफिक सिगनल लगा हुआ है चौराहे पर, आप कितनी भी तेज गति से जा रहे, जल्दी जा रहे हो, पर अगर वहां लाल लाइट है तो आप जा नहीं सकते, रुक जाते हैं। आपकी गति रुक जाती है। जब तक लाल लाइट है त्रिपुरा में, तब तक रुकना पड़ेगा, राज्य आगे नहीं बढ़ सकेगा।’

मोदी ने वाम सरकार पर हमला करते हुए कहा, ‘वाम दल की लाल झंडे दल की वाली सरकार त्रिपुरा के विकास को रोक कर बैठी है। उन्होंने बीजेपी का झंडा दिखाते हुए कहा कि स्थिति तब ठीक होगी जब यहां दो कलर की लाइट आएगी। उन्होंने कहा कि ‘त्रिपुरा समेत पूर्वोत्तर के विकास के लिए केंद्र सरकार विशेष ध्यान दे रही है। त्रिपुरा में विकास कार्यों के लिए जो भी पैसा खर्च होता है, उसका अस्सी प्रतिशत केंद्र सरकार की तरफ से भेजा जाता है।‘ श्री मोदी ने कहा कि ‘केंद्र सरकार विकास के लिए समर्पित है और सबका साथ सबका विकास मंत्र के साथ आगे बढ़ रही है।‘

प्रधानमंत्री मोदी ने त्रिपुरा के मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी का मुद्दा उठाते हुए कहा कि ‘भारतीय जनता पार्टी ने अपने विजन डॉक्यूमेंट में वादा किया है कि त्रिपुरा में बीजेपी की सरकार आने पर मजदूरों को पूरे देश के बराबर मिनिमम वेजेज दिया जाएगा और गरीबों को उनका हक दिया जाएगा।‘ श्री मोदी ने ये भी बताया कि ‘राज्य में बीजेपी की सरकार आने पर सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग के अनुसार वेतन दिया जाएगा और पिछले वर्षों का बकाया भी भुगतान किया जाएगा।‘

अगरतला में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ‘भारतीय जनता पार्टी हमेशा विकास के मार्ग को लेकर चलती है।‘ उन्होंने कहा कि ‘केंद्र सरकार त्रिपुरा में रेल नेटवर्क, रोड नेटवर्क, एयर नेटवर्क और डिजिटल नेटवर्क बढ़ाना चाहती है, सरकार आधुनिक त्रिपुरा बनाना चाहती है, सरकार के लिए जहां एक तरफ न्यू इंडिया का सपना है तो दूसरी तरफ न्यू त्रिपुरा का सपना है।‘

प्रधानमंत्री मोदी ने रैली में आए नौजवानों से कहा कि वो उनकी आशा और अरमानों को पूरा करना चाहते हैं। श्री मोदी ने केंद्र सरकार की मुद्रा योजना के बारे में बताते हुए कहा कि ‘केंद्र में उनकी सरकार के आने के बाद मुद्रा योजना के तहत बैंक से पैसा मिलता है। त्रिपुरा में मुद्रा योजना के तहत 6 लाख से ज्यादा लोगों को लाभ मिला है और उसमें भी आधे से अधिक महिलाओं ने बैंकों से पैसा लेकर अपने पैरों पर खड़े होने का काम किया है।‘

प्रधानमंत्री मोदी ने नॉर्थईस्ट के लोगों के जीविकोपार्जन के मुख्य साधन बांस के पुराने कानून का जिक्र करते हुए कहा कि ‘पहले की सरकारों ने बांस को पेड़ की श्रेणी में डाला हुआ था, जिसे उनकी सरकार ने घास की श्रेणी में डाला और अब कोई भी बांस काट सकता है, बेच सकता है, कमाई कर सकता है, इस फैसले से त्रिपुरा के लोगों के जीवन में बदलाव आएगा।‘

जनसभा में भारी संख्या में उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि ‘देश में बड़ी संख्या में महिलाओं चूल्हा जलाने पर मजबूर हैं, केंद्र सरकार ने उन्हें मुफ्त में रसोई गैस देने का बीड़ा उठाया है, त्रिपुरा में भी लाखों महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया गया है।‘ श्री मोदी ने बताया कि ‘त्रिपुरा के 26 गांव में बिजली का खंभा भी नहीं था। केंद्र सरकार ने एक-एक गांव में बिजली पहुंचाने का बीड़ा उठाया और आज त्रिपुरा के उन 26 गांवों में बिजली पहुंचा दी गई है। अब गांवों के घरों में भी बिजली पहुंचानी है। सौभाग्य योजना के तहत 4 करोड़ घरों में मुफ्त में बिजली कनेक्शन देने का काम किया जा रहा है। जल्द ही त्रिपुरा में भी हर घर में बिजली होगी।‘

पीएम मोदी ने केंद्र सरकार की आवास योजना के बारे में बताते हुए कहा कि ‘सरकार ने 2022 तक देश के गरीब से गरीब नागरिक के पास अपना घर होने का लक्ष्य निर्धारित किया है और इसके लिए काम किया जा रहा है।‘ श्री मोदी ने बजट में घोषित की गई आयुष्मान भारत योजना के बारे में भी बताया और कहा कि ‘इस योजना के तहत 10 करोड़ गरीब परिवारों को 5 लाख रुपये सालान तक चिकित्सा का खर्च केंद्र सरकार की तरफ से दिया जाएगा।‘

LEAVE A REPLY