Home नरेंद्र मोदी विशेष प्रधानमंत्री मोदी की वो 5 बातें, जिसने त्रिपुरावासियों का दिल जीता

प्रधानमंत्री मोदी की वो 5 बातें, जिसने त्रिपुरावासियों का दिल जीता

508
SHARE

त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में आज भाजपा सरकार का शपथ ग्रहण समारोह हुआ। प्रधानमंत्री मोदी समेत देश के कई बड़े नेता इस कार्यक्रम में मौजूद थे। इस पर पूरे देश की नजर थी। इस शपथ ग्रहण समारोह के दौरान कुछ ऐसी चीजें दिखाई दीं, जिसने हर किसी का दिल जीत लिया। गौरतलब है कि 25 साल बाद लेफ्ट का किला इस प्रदेश में ढहा है। जिस प्रकार की कटुता लेफ्ट ने चुनाव प्रचार के दौरान दिखाई, उसका इस समारोह में नामोनिशान तक नहीं दिखा। बल्कि प्रधानमंत्री ने कुछ ऐसे संकेत दिए, जिसमें भारतीय संस्कृति और सभ्यता की झलक दिखाई पड़ी।

पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार को आमंत्रण
त्रिपुरा में 25 वर्षों से नफरत का माहौल बना कर सरकार चलाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार को विशेष रूप से शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया गया था। माणिक सरकार को समारोह में आमंत्रित करने के लिए बिप्लब देब खुद उनके आवास पर गए थे और इस दौरान बिप्लब देब ने उनके पैर भी छुए थे। यही शिष्टाचार समारोह के मंच पर भी दिखाई दिया। समारोह के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने माणिक सरकार से हाथ मिलाया, उन्हें गले लगाया और एकांत में बातें भी कीं। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री खुद उन्हें मंच से विदा करने भी गए। देश के प्रधानमंत्री की इस सरलता ने त्रिपुरावासियों का दिल जीत लिया।

नए सीएम ने पैर छुए तो प्रधानमंत्री ने गले लगाया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार और संगठन में हमेशा बराबरी के पक्षधर हैं। यही वजह है कि जब मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद बिप्लब देब प्रधानमंत्री का आशीर्वाद लेने के लिए उनके पैर छूने को आगे बढ़े तो, श्री मोदी ने उन्हें अपने गले लगा लिया। हालांकि बिप्लब देव उम्र में प्रधानमंत्री मोदी से काफी छोटे हैं, फिर भी श्री मोदी ने उन्हें पैर नहीं छूने दिए और अपने गले लगाकर उन्हें नई जिम्मेदारी के लिए बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी की यह अदा त्रिपुरावासियों के दिल को छू गई।

राज्य के विकास में विपक्ष को भागीदार बनाया
त्रिपुरा में पिछले 25 सालों से सरकार चला रहे वाम दलों ने विपक्ष को कभी साथ में नहीं रखा, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी हमेशा सबको साथ लेकर चलने में विश्वास करते हैं, उन्होंने विपक्षी विधायकों को भी सरकार में भागीदार बनने का आमंत्रण दिया। शपथ ग्रहण समारोह के बाद जनसभा को भी संबोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि बीजेपी के जो भी विधायक जीते हैं, उनमें त्रिपुरा में विकास को लेकर जबरदस्त उत्साह है, पर अनुभव की कमी है। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष के विधायकों के पास सत्ता चलाने का अपार अनुभव है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अगर सत्ता पक्ष का उत्साह और विपक्ष का अनुभव मिलकर काम करेंगें तो त्रिपुरा तीव्रगति से विकास के पथ पर आगे बढ़ेगा।

जिन्होंने वोट नहीं दिया उनकी भी सरकार
त्रिपुरा में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत से वाम दलों के कैडर में डर का माहौल बना हुआ है। प्रधानमंत्री मोदी ने सभी को आश्वस्त किया है कि यह सरकार सभी की है। अपने भाषण के दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार पूरे राज्य के लोगों का प्रतिनिधित्व करने वाली है। श्री मोदी ने त्रिपुरा के लोगों को विश्वास दिलाते हुए कहा कि ‘जिन्होंने हमें वोट दिया है और जिन्होंने हमें वोट नहीं दिया है, यह बीजेपी की सरकार सभी के लिए हैं। त्रिपुरा का हर नागरिक हमारा है और उसका विकास करना हमारा दायित्व है।‘

त्रिपुरा सरकार के साथ चलेगा केंद्र
प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार सबका साथ सबका विकास के मंत्र में विश्वास करती है। राज्य कितना भी बड़ा हो या छोटा, केंद्र सरकार सभी राज्यों के विकास के लिए एक समान कार्य कर रही है। त्रिपुरा भले ही छोटा राज्य है, लेकिन इसके विकास में भी केंद्र सरकार पूरी मदद करेगी।प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘गंगाजल लेने सभी जाते हैं, लेकिन जिसके पास जितना बड़ा बर्तन होता है उतना ही गंगाजल ले पाता है, इसी प्रकार त्रिपुरा की सरकार जितनी तेजी से चलेगी, उतनी ही तेजी से भारत सरकार कंधे से कंधा मिलाकर उसकी मदद करेगी।‘

LEAVE A REPLY