Home हेट ट्रेकर देश को कलंकित करती शिवम विज की नकारात्मक पत्रकारिता

देश को कलंकित करती शिवम विज की नकारात्मक पत्रकारिता

449
SHARE

देश में पत्रकारों के एक वर्ग ने पत्रकारिता को कांग्रेस के सत्ता हासिल करने के खेल का खिलौना बना दिया है। इस खेल में कई एजेंडा पत्रकार नकारात्मक खबरों से लेकर तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर लेख लिखते हैं और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ एक नकारात्मक माहौल बनाकर कांग्रेस को राजनीति करने का अवसर उपलब्ध करवाते हैं। दरअसल कांग्रेस ने ऐसे पत्रकारों का एक गिरोह बना रखा है, जो सोशल मीडिया से लेकर मुख्यधारा की मीडिया में प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अतार्किक और गैर जरूरी मुद्दों को हवा देते रहते हैं।

कांग्रेस के सत्ता के खेल में शामिल पत्रकारों के इस गिरोह में शिवम विज भी हैं। शिवम विज, पूर्व में कई पत्र-पत्रिकाओं में बतौर संपादक और रिपोर्टर काम कर चुके हैं। आजकल, विभिन्न वेबसाइटों और पत्र-पत्रिकाओं पर स्वतंत्र रुप से लिखते रहते हैं। सोशल मीडिया पर भी प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ नकारात्मक खबरों और कमेंट्स का प्रचार-प्रसार करना, इनकी दिनचर्या का विशेष काम है। शिवम विज के सोशल मीडिया पर बयानों और खबरों को देखने से यह स्पष्ट हो जाता है कि यह पत्रकारिता के नाम पर कांग्रेस की राजनीति का खेल खेल रहे हैं। आइए, आपको भी शिवम विज के उन Tweets के बारे में बताते हैं, जिससे ये पत्रकारिता को कलंकित करते हैं-

कलंकित करती नकारात्मक पत्रकारिता-1
शिवम विज की कलंकित करने वाली नकारात्मक पत्रकारिता के आयामों को देखने से पहले, यह देखना जरूरी है कि यह पत्रकार अपनी लेखनी से कांग्रेस की कैसे सेवा करता है। नीचे के कुछ Tweets को पढ़कर यह समझ में आ जाता है कि शिवम विज के अंदर का पत्रकार कांग्रेस के लिए अपनी लेखनी का पूरी तरह से इस्तेमाल करता है। 13 फरवरी के Tweet में शिवम को ANI की उस रिपोर्टिंग से क्षोभ होता है जिसमें राहुल गांधी के भाषण के दौरान माइक खराब हो जाने की खबर है। इसी तरह 14 फरवरी को राहुल गांधी के GST पर दिए गये बयान के समर्थन को दर्शाता हुआ Tweet किया। इन दोनों Tweet को अगर 15 फरवरी के Tweet के साथ पढ़ा जाए, जिसमें शिवम लिखते हैं कि कांग्रेस की भाजपा के खिलाफ व्यंग्य वाली शक्तिशाली Communication strategy अच्छी है, तो सारा खेल साफ हो जाता है। आखिर में 8 फरवरी के दो Tweets को पढ़कर तो साफ समझ में आ जाता है कि कांग्रेस ही इनकी Boss है। शिवम विज की कलंकित पत्रकारिता के उन Tweets को आप भी पढ़िए-

कलंकित करती नकारात्मक पत्रकारिता-2

राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते समय जब प्रधानमंत्री मोदी अपनी बात कह रह थे, तब कांग्रेस की महिला सांसद रेणुका चौधरी ने अपने अट्टाहास से व्यवधान डलाने की कोशिश की। हालांकि राज्यसभा के सभापति ने उन्हें ऐसा करने से मना किया, लेकिन वह नहीं मानीं। ऐसे मे प्रधानमंत्री मोदी ने हंसी-हंसी में सभापति को रेणुका चौधरी को मना करने के लिए रोकते हुए अपनी अपना भाषण पूरा किया। इस हास्य को तिल का ताड़ बनाने वाले पत्रकारों ने संवैधानिक पदों के अधिकारों को भुलाकर, महिला अधिकारों की दुहाई देने लगे। शिवम विज ने भी इस राजनीति में कांग्रेस का पक्ष लेते हुए कुछ ऐसा Tweet किया-

कलंकित करती नकारात्ममक पत्रकारिता-3
प्रधानमंत्री मोदी ने 16 फरवरी को देशभर के बच्चों से परीक्षा पर चर्चा करके उनकी समस्याओं का समाधान करने का एक सफल प्रयास किया। प्रधानमंत्री के इस कदम का देशभर में स्वागत हुआ। कलंकित और नकारात्मक पत्रकारिता करने वाले कांग्रेस गिरोह के पत्रकारों ने इस पर तमाम तरह की उल-जलूल खबरों को छापना शरु कर दिया, और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ नकारात्मक माहौल बनाने में लग गए। शिवम विज ने 16 फरवरी को जो Tweets किए, उनको पढ़कर लगता है कि ये प्रधानमंत्री मोदी के हर अच्छे कामों में दोष निकालने के फन में माहिर है।

कलंकित करती नकारात्मक पत्रकारिता-4
भ्रष्टाचार पर प्रधानमंत्री मोदी ने अपने कार्यकाल के पहले दिन से ही कई कदम उठाए, जिसका परिणाम यह हुआ कि तंत्र में निगरानी को मजबूत करने की व्यवस्था कारगर हुई। इस कारगर व्यवस्था से कांग्रेस के दौर में बैंकों के साथ किए गए धोखाधड़ी के मामले सामने आने लगे। जब पंजाब नेशनल बैंक की धोखाधड़ी का मामला सामने आया तो कांग्रेस के इन कलंकित पत्रकारों ने सोशल मीडिया पर तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर सच्चाई बताने का दावा करने वाले Tweets का प्रचार और प्रसार किया। शिवम विज के Tweets को पढ़ने से स्पष्ट होता है कि इनको देश में भ्रष्टाचार के मुद्दे से बड़ा कांग्रेस की सत्ता के खेल को बचाए रखना है-

कलंकित करती नकारात्मक पत्रकारिता-5
शिवम विज ने पत्रकारिता को कलंकित करने वाला नकारात्मक Tweet, 15 फरवरी को किया। कांग्रेस की सत्ता के खेल को बनाए रखने वाले इस Tweet में प्रधानमंत्री मोदी के सभी अच्छे कार्यों और क्रांतिकारी परिवर्तनों को नजरअंदाज करते हुए लिखा-

कलंकित करती नकारात्मक पत्रकारिता-6
प्रधानमंत्री मोदी ने मेडिकल बीमा के लिए बजट में आयुष्मान भारत योजना की घोषणा की, जिसको सभी ने सराहा, लेकिन कांग्रेस के नकारात्मक पत्रकारों के गिरोह ने इसके खिलाफ हवा बनाने का काम शुरु कर दिया। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जो पूर्व में भी प्रधानमंत्री मोदी की सभी योजनाओं का नाम बदलकर अपने राज्य में लागू करती रहीं हैं, इस योजना को भी लागू करने से मना कर दिया। कांग्रेस के कलंकित पत्रकार शिवम विज ने इस खबर को अपने सोशल मीडिया पर शेयर करना शुरु कर दिया-

कलंकित करती नकारात्मक पत्रकारिता-7
प्रधानमंत्री मोदी यदि भ्रष्टाचार के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हैं, तो कांग्रेस गिरोह के पत्रकार समझते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी चुनाव प्रचार कर रहे हैं, जबकि वह देश के सामने 70 सालों की सच्चाई सामने रखते हैं। शिवम विज ने प्रधानमंत्री मोदी द्वारा ओमान में दिए गये भाषण पर 12 फरवरी को Tweet करते हुए लिखा-

कलंकित करती नकारात्मक पत्रकारिता-8
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत ने सेना का मनोबल बढ़ाते हुए बयान दिया कि संघ हमेशा सेना के समर्थन के लिए तैयार है। इस बयान को तोड़ मरोड़ कर, अतार्किक और कांग्रेसी सत्ता का खेल बनाते हुए शिवम विज ने 12 फरवरी अमर्यादित और फूहड़ Tweet में लिखा-

कलंकित करती नकारात्मक पत्रकारिता-9
प्रधानमंत्री मोदी या भाजपा जब भी वेदों में प्रयुक्त वैज्ञानिक विचारों को सामने रखती है तो कांग्रेस गिरोह के इन पत्रकारों को डर सताने लगता है कि उनका छद्म प्रगतिवाद खत्म हो जाएगा। इस डर से शिवम विज ने 9 फरवरी को एक खबर को Tweet किया, जिसमें अधकचरे विश्लेषण के जरिए सभी वैदिक ज्ञान को निर्मूल साबित किया गया।

पत्रकारिता का इस तरह से कांग्रेसी गिरोह के रुप में काम करना देश के विकास के लिए खतरनाक है। पत्रकारों का कांग्रेस के सत्ता के खेल में नकारात्मक खबरों को बढ़ा चढा कर पेश करना और उससे राजनीति करना, पत्रकारिता और राजनीति दोनों के प्रति अविश्वास पैदा करता है।

LEAVE A REPLY