Home चुनावी हलचल भारतीय राजनीति के सुपरस्टार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारतीय राजनीति के सुपरस्टार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

895
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने एक बार फिर अपना परचम लहरा दिया है। विधानसभा चुनाव के नतीजों ने साबित कर दिया है कि प्रधानमंत्री देश के दिल पर राज कर रहे हैं। केंद्र में बीजेपी सरकार बनने के ढाई साल बाद भी लोगों को पूरा भरोसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कायम है।

कठोर फैसला लेने वाले नेता
सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी के बाद लोगों में पीएम मोदी की एक ऐसे नेता की छवि बनी है जो कठोर निर्णय ले सकता है। वो लोगों को यह यकीन दिलाने में कामयाब रहे हैं कि आम लोगों और देश के विकास के लिए कोई भी ठोस कदम उठाने को तैयार हैं। 

सीधा संवाद सदैव
बीजेपी ने पूरा चुनाव प्रधानमंत्री मोदी की अगुवाई में लड़ा। सीएम पद के लिए किसी उम्मीदवार की घोषणा किए बिना पार्टी चुनाव मैदान में उतरी। इससे लोग सीधा पीएम मोदी से कनेक्ट कर पाए। प्रधानमंत्री हमेशा लोगों से सीधा संवाद करने पर यकीन करते हैं। इससे लोग खुद को उनसे जुड़ा महसूस करते हैं।

लोकप्रियता पर मुहर
विधानसभा चुनावों में मिली जीत से साफ है कि पीएम मोदी की लोकप्रियता पहले की तरह कायम है। नोटबंदी के बाद कांग्रेस और दूसरी पार्टियों का यह दावा कि लोगों में प्रधानमंत्री के खिलाफ नाराजगी है, मतदाताओं ने उसे खारिज करते हुए उनमें अपनी आस्था एक बार फिर जता दी। इसके साथ ही लोगों ने उनकी आर्थिक नीतियों पर भी अपनी मुहर लगा दी है। मतदाताओं के इस विश्वास के बाद पीएम मोदी अपने सुधारों को और तेजी से आगे बढ़ा सकेंगे।

सबका साथ सबका विकास
विपक्षी नेता जहां खास जाति-संप्रदाय को ध्यान में रखकर चुनाव प्रचार में जुटे रहे, वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने अपने अभियान के दौरान ‘सबका साथ सबका विकास’ नारे के साथ सभी को साथ लेकर चलने के प्रयास किया। लोग में यह विश्वास जगा है कि पीएम मोदी भाई-भतीजावाद और भेदभाव की राजनीति नहीं करते हैं। इस जीत से आने वाले दिनों में बीजेपी की राज्यसभा में भी सीटों की संख्या बढ़ेगी। इससे पीएम मोदी और मजबूत होंगे। प्रधानमंत्री अब अपने सुधार एजेंडे को और तेजी से लागू कर पाएंगे।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में उन्होंने 26 दिनों तक जमकर प्रचार किया।

    • पीएम मोदी ने प्रचार अभियान का प्रारंभ 2 जनवरी को लखनऊ की परिवर्तन रैली से किया।
    • पूरे चुनाव अभियान में कुल 23 रैलियां की।
    • हर रैली में लोगों की भारी भीड़ उमड़ी।
    • अंतिम महारैली वाराणसी के पास रोहनियां में 6 मार्च को हुई।
    • चुनाव अभियान का समापन वाराणसी में तीन दिनों के चुनाव प्रचार से किया।
    • वाराणसी में रोडशो के दौरान रिकॉर्ड संख्या में लोग शामिल हुए।

लोकसभा चुनाव 2014 में जिस मोदी लहर की शुरुआत हुई थी वो आज भी बरकरार है-

    • 2014 के बाद बीजेपी ने हरियाणा और झारखंड में अकेले सरकार बनाई।
    • महाराष्ट्र में सबसे बड़ी पार्टी बनकर शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाई।
    • बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर में पीडीपी के साथ मिलकर सरकार बनाई
    • मोदी लहर के कारण असम में भी बीजेपी की सरकार बनी।
    • मोदी मैजिक के कारण केरल में बीजेपी को दस फीसदी वोट हासिल हुए।

इस जीत के साथ उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, झारखंड, असम, हरियाणा और गोवा सहित देश की कुल आबादी के आधे से ज्यादा हिस्से पर कमल खिल गया है।

 

LEAVE A REPLY