Home समाचार मुस्लिम लड़कियों को अब मिलेगा पीएम मोदी का ‘शादी शगुन’

मुस्लिम लड़कियों को अब मिलेगा पीएम मोदी का ‘शादी शगुन’

482
SHARE

विरोधी दल भले ही बीजेपी को मुस्लिम विरोधी बताने की हर कोशिश करते हैं। लेकिन पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्र की सरकार ‘सबका साथ, सबका विकास’ के मूल मंत्र पर आगे बढ़ रही है। इसी क्रम में सरकार ने मुस्लिम लड़कियों को रक्षाबंधन से पहले तोहफा दिया है। केंद्र सरकार ने निर्णय किया है कि वो मुस्लिम लड़कियों की उच्च शिक्षा को प्रोत्‍साहित करने के उद्देश्य से 51 हजार रुपये की राशि बतौर शादी शगुन देगी।

मुस्लिम लड़कियां और मोदी के लिए चित्र परिणाम

51 हजार रुपये का ‘शादी शगुन’
केंद्र सरकार उन अल्पसंख्यक लड़कियों को 51,000 रूपये की राशि बतौर ‘शादी शगुन’ देगी जो स्नातक की पढ़ाई पूरी करेंगी। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की अधीनस्थ संस्था ‘मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन’ (एमएईएफ) ने मुस्लिम लड़कियों की मदद के लिए यह कदम उठाने का फैसला किया।

मुस्लिम लड़कियां और मोदी के लिए चित्र परिणाम

वेबसाइट पर होगी पूरी जानकारी
अल्पसंख्यक मंत्रालय का कहना है कि इस संदर्भ में वेबसाइट तैयार की जा रही है और इस पूरा ब्योरा दिया जाएगा। ‘शादी शगुन’ की यह राशि स्नातक की पढ़ाई पूरी करने वाली उन्हीं मुस्लिम लड़कियों को मिलेगी जिन्होंने स्कूली स्तर पर एमएईएफ की ओर से मिलने वाली छात्रवृत्ति हासिल की होगी। दरअसल प्रधानमंत्री ने पहले भी मुस्लिम समुदाय खासकर महिलाओं में शिक्षा के स्तर और उनकी सामाजिक स्थिति को लेकर चिंता व्यक्त की है।

मुस्लिम लड़कियां और मोदी के लिए चित्र परिणाम

अभिभावकों को मिलेगा प्रोत्साहन
दरअसल मुस्लिम समाज के एक बड़े हिस्से में आज भी लड़कियों को उच्च शिक्षा नहीं मिल पाती है। इसका एक बड़ा कारण आर्थिक तंगी है। इस योजना का मकसद मुस्लिम लड़कियों और उनके अभिभावकों को इस बात के लिए प्रोत्साहित करना है। बच्चियों और खासकर अभिभावकों को प्रोत्साहित करना उद्देश्य है ताकि लड़कियां कम से कम ग्रेजुएट स्तर की पढ़ाई पूरी कर सकें।

मुस्लिम लड़कियां और मोदी के लिए चित्र परिणाम

10वीं, 12वीं की लड़कियों को मिलेगा वजीफा
यह भी निर्णय किया गया है कि अब नौंवी और 10वीं कक्षा में पढ़ाई करने वाली मुस्लिम बच्चियों को 10 हजार रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। अब तक 11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ाई करने वाली मुस्लिम लड़कियों को 12 हजार रुपये की छात्रवृत्ति मिल रही थी। यह योजना केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की अधीनस्थ संस्था मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन के तहत शुरू की गई है।

मुस्लिम महिलाओं ने पीएम को भेजीं राखियां
ट्रिपल तलाक के मुद्दे को लेकर चल रही बहस के बीच मुस्लिम महिलाओं ने अपने ‘भाई’ प्रधानमंत्री नरेंद्र नरेंद्र और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को रक्षा बंधन पर अनोखी सौगत भेजी है। ट्रिपल तलाक जैसी कु-प्रथा को लेकर महिलाओं की आवाज उठाने पर उन्होंने योगी और मोदी द्वारा मुद्दा उठाने के प्रयासों की तारीफ करते हुए पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ को रक्षा बंधन के त्योहार पर राखी भेजी है।

LEAVE A REPLY