Home विचार उपचुनाव परिणाम : ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ की ‘घंटी’ सुनना नहीं चाहती कांग्रेस!

उपचुनाव परिणाम : ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ की ‘घंटी’ सुनना नहीं चाहती कांग्रेस!

325
SHARE

मध्यप्रदेश के कोलारस और मुंगावली विधासभा उपचुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी बमुश्किल अपनी जीत दर्ज कर सके, वहीं ओडिशा के बीजेपुर में कांग्रेस के प्रत्याशी की जमानत जब्त हो गई। इन चुनाव नतीजों से पहली प्रतिक्रिया में बीजेपी की हार कही जाएगी, लेकिन इसका विश्लेषण करें तो कांग्रेस के लिए यह बहुत बड़े खतरे की घंटी है। दरअसल मध्यप्रदेश में 12 वर्षों से लगातार बीजेपी शासन होने के बाद भी उनके वोट प्रतिशत अगर बढ़े हैं तो ये कांग्रेस के लिए हैरत की बात है और बीजेपी के लिए हौसला बढ़ाने वाली। ये आश्चर्यजनक इसलिए भी है कि कोलारस और मुंगावली की विधानसभा सीटें परम्परागत रूप से कांग्रेस की ही रही हैं और सिंधिया परिवार का गढ़ हैं। महत्वपूर्ण इसलिए भी कि 2013 में बीजेपी की लहर में भी कांग्रेस ने इन दोनों ही सीटों पर बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी। लेकिन इस बार ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाली सीटों पर उनके 70 रोड शो और सभा करने के बावजूद बीजेपी अपना वोट प्रतिशत बढ़ाने में सफल रही है। यह तब हुआ है जब बहुजन समाज पार्टी ने अपने उम्मीदवार नहीं उतारे और उनके वोट कांग्रेस के खाते में गए। जाहिर है ये कांग्रेस के लिए जीत के मुगालते में रहने का वक्त नहीं बल्कि खतरे की घंटी है। दूसरी ओर ओडिशा के बीजेपुर में कांग्रेस ने अपनी सीट ही नहीं गंवाई, बल्कि उसके प्रत्याशी की जमानत तक जब्त हो गई। 

आइये इन प्वाइंटर्स के जरिये समझते हैं कि आखिर कोलारस, मुंगावली हारने के बाद भी कैसे जीत गई भाजपा और बीजेपुर में कांग्रेस की हार और भाजपा के वोट प्रतिशत में 100 प्रतिशत की उछाल क्या संकेत दे रही है।

कोलारस, मध्य प्रदेश

  • कांग्रेस की जीत का अंतर 8083 मतों का रहा, जबकि पिछली बार 24, 953 वोटों का अंतर
  • बीजेपी को हारी, लेकिन उसका वोट पिछले साल के मुकाबले 13 प्रतिशत वोट बढ़ा
  • बीएसपी ने अपने कैंडिडेट खड़े नहीं किए जिसका सीधा लाभ कांग्रेस पार्टी को मिला
  • कांग्रेस को 48 प्रतिशत मत मिले, जबकि बीजेपी को 43 प्रतिशत, 5 प्रतिशत का अंतर
  • निर्दलीय प्रत्याशियों को 8 हजार से अधिक मिले और जीत-हार का अंतर भी 8 हजार ही रहा

मुंगावली, मध्य प्रदेश

  • बीजेपी 2,123 मतों से हारी, जबकि 2013 के चुनाव में 20, 765 मतों का था अंतर
  • कांग्रेस के बृजेंद्र सिंह 70808 मत मिले, बीजेपी के बाईसाहब को 68684 वोट मिले
  • 19 राउंड की मतगणना में 10 राउंड में कांग्रेस तो 9 राउंड में बीजेपी को बढ़त मिली
  • बीजेपी को 46.67 प्रतिशत वोट तो कांग्रेस को 48.11 प्रतिशत वोट मिले
  • वर्ष 2013 में बीजेपी को 27.70 प्रतिशत और कांग्रेस को 36.23 प्रतिशत वोट मिले थे
  • ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ की कैंपेन के बावजूद 2013 के मुकाबले बीजेपी ने 10.50 प्रतिशत मत बढ़ा लिया

बीजेपुर, ओडिशा

  • ओडिशा के बीजेपुर विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस पार्टी तीसरे नंबर पर पहुंच गई
  • कांग्रेस को मिले 10,274 वोट, परम्परागत सीट पर जमानत नहीं बचा पाई कांग्रेस
  • भाजपा ने 2014 के मुकाबले अपने वोटों की संख्या में 100 प्रतिशत की बढ़ोतरी की
  • 2014 में भाजपा को मिले थे 30 हजार वोट, इस बार उन्हें मिले 60, 938 मत
  • परम्परागत रूप से कांग्रेस की सीट थी बीजेपुर सीट, तीन बार जीते थे सुबलू साहू
  • बीजू जनता दल के बाद दूसरे नंबर की पार्टी बन गई है भारतीय जनता पार्टी

LEAVE A REPLY