Home समाचार Moody’s ने कहा, GST से बढ़ेगा राजस्व, बढ़ेगी उत्पादकता, बढ़ेगा निवेश

Moody’s ने कहा, GST से बढ़ेगा राजस्व, बढ़ेगी उत्पादकता, बढ़ेगा निवेश

378
SHARE

भारत में ‘वन कंट्री, वन टैक्स’ का प्रावधान आने के साथ ही विश्व के देश भी इस व्यवस्था को सकारात्मक नजरिये से देख रहे हैं। रेटिंग एजेंसियां भी अब वस्तु एवं सेवा कर यानि जीएसटी को भारत के लिए लाभदायक बता रही हैं। अमेरिकी रेटिंग एजेंसी मूडीज ने जीएसटी को भारत के लिए सकारात्मक बताया है।

Moody’s ने कहा, बढ़ेगा राजस्व
मूडीज ने रविवार को एक बयान जारी कर कहा कि जीएसटी के जरिए अधिक से अधिक लोग कर चुकाएंगे, जिससे भारत का राजस्व बढ़ेगा।
बयान में एजेंसी की इनवेस्टर सर्विस के उपाध्यक्ष विलियम फोस्टर ने कहा, “जीएसटी की वजह से सरकार का राजस्व बढ़ेगा, क्योंकि इससे प्रशासनिक सुधार आएगा और अधिक से अधिक संख्या में लोग कर चुकाएंगे। दोनों ही चीजें भारत की क्रेडिट प्रोफाइल के लिए सकारात्मक साबित होंगी, जो अब तक कम राजस्व के चलते बाधित था।”

क्रेडिट देने की प्रक्रिया होगी आसान
Moody’s ने उम्मीद जताई है कि कर चुकाने वालों की संख्या में इजाफा होने के पीछे जीएसटी में कर चुकाने वालों को कर क्रेडिट देने की सुविधा और केंद्र सरकार तथा राज्य सरकारों के बीच एक आम साझा सूचना प्रौद्योगिकी अवसंरचना के जरिए कर चुकाने की प्रक्रिया का सहज होना मुख्य कारण होंगे।

बढ़ेगी उत्पादकता, बढ़ेगा निवेश 
इतना ही नहीं मूडीज के अनुसार, जीएसटी के चलते भारत की उत्पादकता भी बढ़ेगी और कारोबार में आई सरलता के कारण सकल घरेलू उत्पाद की विकास दर भी तेज होगी। इन सबसे, भारत विदेशी निवेश को आकर्षित करने में भी सफल होगा।

 

भारत में एक जुलाई से जीएसटी लागू कर दिया गया है, जिसके तहत पूर्व में लगने वाले 17 तरह के करों और केंद्र तथा राज्य सरकारों द्वारा लगाए जाने वाले 23 अधिभारों को खत्म कर एक राष्ट्रीय कर की व्यवस्था कर दी गई है।

LEAVE A REPLY