Home समाचार प्रधानमंत्री मोदी ने की 40 अर्थशास्त्रियों के साथ इकोनॉमिक ग्रोथ पर बात

प्रधानमंत्री मोदी ने की 40 अर्थशास्त्रियों के साथ इकोनॉमिक ग्रोथ पर बात

299
SHARE

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अर्थशास्त्रियों के साथ देश की अर्थव्यवस्था और विकास को लेकर चर्चा की। ‘आर्थिक नीति- भविष्‍य की संभावनाएं’ विषय पर नीति आयोग की ओर से आयोजित विचार विमर्श सत्र में 40 से अधिक अर्थशास्‍त्री और अन्‍य विशेषज्ञ उपस्थित थे। बैठक में 6 बुनियादी मुद्दों को चर्चा के केंद्र में रखा गया। सत्र के दौरान प्रतिनिधियों ने वृहद अर्थशास्‍त्र, कृषि, ग्रामीण विकास, रोजगार, स्‍वास्‍थ्‍य व शिक्षा, विनिर्माण और निर्यात, शहरी विकास, अवसंरचना और कनेक्टिविटी जैसे आर्थिक विषयों पर अपने विचार साझा किये।

प्रधानमंत्री ने विभिन्‍न प्रतिनिधियों को अर्थव्‍यवस्‍था के विभिन्‍न आयामों पर दिये गये उनके सुझावों के लिए धन्‍यवाद दिया। उन्‍होंने विशेषज्ञों के उच्‍च स्‍तरीय सुझावों की प्रशंसा की। प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर लिखा कि आर्थिक नीति-आगे का रास्ता पर अर्थशास्त्रियों तथा विशेषज्ञों के साथ गहन चर्चा हुई। बैठक में विशेषज्ञों ने वृहद अर्थव्यवस्था, कृषि, ग्रामीण विकास, रोजगार, स्वास्थ्य, शिक्षा, विनिर्माण, निर्यात, शहरी विकास, बुनियादी ढांचा और संपर्क पर अपने विचार रखे।

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि कई विशेषज्ञों का मानना था कि रोजगार सृजन महत्वपूर्ण है। बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि किसानों की आय दोगुनी किस तरह की जाए। उन्होंने कहा कि कई अर्थशास्त्रियों का कहना था कि कृषि उत्पादन बढ़ाने के बजाय लागत घटाने और बाजार तक पहुंच बेहतर बनाने पर फोकस होना चाहिए। सरकार ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। बैठक में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की जरूरत पर भी जोर दिया।

इस बैठक में वित्त मंत्री अरुण अरुण जेटली, वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु समेत कई मंत्री शामिल हुए। नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष, केन्‍द्र सरकार तथा नीति आयोग के वरिष्‍ठ अधिकारी भी इस बैठक में उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY