Home गुजरात विशेष गुजरात चुनाव में हार की आशंका से कांग्रेस में बौखलाहट, मणिशंकर ने...

गुजरात चुनाव में हार की आशंका से कांग्रेस में बौखलाहट, मणिशंकर ने पीएम मोदी को कहा ‘नीच इंसान’,

139
SHARE

गुजरात में एक बार फिर से करारी हार की आशंका के बीच कांग्रेसी नेता अब गाली-गलौच पर उतर आए हैं। कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने मर्यादा की सारी सीमाएं लांघते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘नीच इंसान’ कह कर गाली दी है। अय्यर के इस गालीकांड से देश की राजनीति में भूचाल आ गया है। एक बार फिर साबित हो गया है कि कांग्रेस के नेताओं की सोच कितनी गिरी हुई है। अय्यर ने प्रधानमंत्री मोदी पर अपशब्दों की बौछार करते हुए कहा है कि “मुझको लगता है कि वह बहुत नीच किस्म का आदमी है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है और ऐसे पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है।”  

 

 

2014 में भी ‘चाय वाला’ कह कर किया था मोदी का अपमान
ऐसा नहीं है कि मणिशंकर अय्यर ने पहली बार प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ जहरीली जुबान का इस्तेमाल किया है। इससे पहले जनवरी 2014 में जब नरेरंद्र मोदी को बीजेपी की तरफ से प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित किया गया था, तब भी अय्यर ने उनके खिलाफ गंदी जुबान का इस्तेमाल किया था। तब अय्यर ने कांग्रेस पार्टी के अधिवेशन में कहा था कि “21वीं शताब्दी में वह (नरेंद्र मोदी) प्रधानमंत्री बन पाएं, ऐसा कतई मुमकिन नहीं है… लेकिन यदि वह यहां (कांग्रेस अधिवेशन में) आकर चाय बेचना चाहें तो हम उनके लिए जगह बना सकते हैं…”।

गुजरात की जनता देगी गाली का जवाब
मणिशंकर अय्यर के बयान पर लोगों का गुस्सा जमकर भड़का। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी सूरत की चुनावी रैली में इस विषय को उठाया और और कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के बयान पर जवाब देते हुए कहा,“तुम्हारी बात-तुम्हें मुबारक, मुझे नीच कहने का साहस दिखाया। लेकिन, मैं काम इस देश के लिए ऊंचे करता हूं और साफ करता हूं।” 

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेसी नेताओं की इस मुगल मानसिकता पर भी सवाल उठाए। प्रधानमंत्री मोदी ने बीजेपी कार्यकर्ताओं और अपने समर्थकों से कहा कि “मुझे भले ही कोई नीच कहे लेकिन मेरी अपील है कोई उनके खिलाफ मर्यादा का उल्लंघन ना करें।” पीएम मोदी ने कहा कि, “देश के पीएम के लिए ऐसे शब्द…हमारा कोई भी कार्यकर्ता किसी भी फोरम पर इसका जवाब ना दे। गुजराती और बीजेपी के ऐसे संस्कार नहीं हैं। 9 और 14 दिसंबर को कमल को वोट देकर नीच का जवाब दीजिए।”

ये कोई पहला वाकया नहीं है, इससे पहले भी कांग्रेस पार्टी ही नहीं दूसरी पार्टी के नेता भी प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल कर चुके हैं। हम यहां सिलसिलेवार दिखाने की कोशिश करेंगे कि सिर्फ विरोध के नाम पर देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री के लिए कैसी-कैसी भाषा का इस्तेमाल किया गया है।

अस्वस्थ मानसिकता के शिकार- आनंद शर्मा
कांग्रेस प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने सोमवार 27 नवंबर को कहा है, कि “प्रधानमंत्री एक अस्वस्थ मानसिकता से गुजर रहे हैं, जो कि एक राष्ट्रीय मसला है।” दरअसल आनंद शर्मा को यह बात पसंद नहीं आ रही है कि कोई उनकी पार्टी में चार पीढ़ियों से चली आ रही वंशवाद की नीति पर सवाल उठाए।

भक्तों को पर्मानेंट %#$ बनाना- मनीष तिवारी

कांग्रेस के एक नेता और पूर्व मंत्री मनीष तिवारी ने पीएम मोदी के बारे जिस गाली का इस्तेमाल किया उसे तो दोहराया भी नहीं जा सकता। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा, “इसे कहते हैं चू#$% को भक्त बनाना और भक्तों को पर्मानेंट चू#$% बनाना- जय हो।”

दिग्विजय सिंह ने पीएम मोदी को दी गाली
इससे पहले कांग्रेस के कुख्यात महासचिव और पार्टी उपाध्यक्ष के सियासी गुरु कहे जाने वाले दिग्विजय सिंह ने भी पीएम मोदी के लिए बहुत ही अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया था। दिग्विजय सिंह ने जो ट्वीट पोस्ट किया है उसमें मोदी की तस्वीर के साथ तीन लाइन लिखी गई थी। इसमें लिखा है, ‘मेरी 2 उपलब्धियां: 1- भक्तों को &$% बनाया, 2- $#$& को भक्त बनाया।

भगवान बुद्धि दे- दिग्विजय सिंह
दिग्विजय सिंह ने जन्मदिन के अवसर पर भी प्रधानमंत्री के खिलाफ घटिया तंज कसने से परहेज नहीं किया। उन्होंने पीएम को जन्मदिन पर शुभकामना तो दी, लेकिन अपनी ओछी हरकत भी दिखा दी। उन्होंने लिखा, “प्रधानमंत्री मोदी जी को उनके जन्मदिन पर मेरी शुभकामनाएं। भगवान उन्हें उनकी गलतियों को स्वीकारने और उसे ठीक करने की बुद्धि दे।”

जवानों के खून के दलाल- राहुल गांधी
कांग्रेस नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ जिस घिनौनी भाषा का प्रयोग किया है, उसमें पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हैं। एक समय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाने वाले राहुल ने एक सभा में इसको लेकर पीएम पर बहुत ही अमर्यादित टिप्पणी की- “हमारे जवानों ने जम्मू-कश्मीर में अपना खून दिया, जिन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक किया, आप उनके खून के पीछे छिपे हुए हो। आप उनकी दलाली कर रहे हो।”

जहर की खेती करते हैं- सोनिया गांधी
आम चुनावों के दौरान राहुल की मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नरेन्द्र मोदी जी का नाम लिए बिना कहा था कि, “मेरा पूरा भरोसा है कि आप ऐसे लोगों को मंजूर नहीं करेंगे जो जहर का बीज बोते हैं।”

मौत का सौदागर- सोनिया गांधी
इससे पहले 2007 के गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान भी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नरेन्द्र मोदी के खिलाफ एक आपराधिक और घटिया टिप्पणी की थी। सोनिया ने उस समय मोदी जी को ‘मौत का सौदागर कहा’ था। सोनिया की इस हरकत को मतदाताओं ने बहुत गंभीरता से लिया और विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को धूल चटा दिया था।

मोस्ट स्टुपिड पीएम- राशिद अल्वी
कांग्रेस के एक और नेता हैं, राशिद अल्वी। इन्होंने बुद्धिजीवियों के बीच में देश के प्रधानमंत्री को “मोस्ट स्टुपिड पीएम” कह दिया। अल्वी ने कहा था, “मोस्ट स्टुपिड पीएम सर्च करने पर उनका नाम आता है।” हालांकि अल्वी को वहां मौजूद लोगों के भारी विरोध का सामना भी करना पड़ गया।

राक्षसराज रावण- दिग्विजय सिंह
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का व्यक्तित्व ही गंदगियों से भरा हुआ है। जब से मध्य प्रदेश की जनता ने उन्हें राज्य की सत्ता से बेदखल किया है, वे अपना संतुलन गंवा बैठे हैं। यही कारण है कि वे कुछ भी बक देते हैं। इसी कड़ी में एक बार उन्होंने नरेन्द्र मोदी की तुलना राक्षसराज रावण से कर दी थी। तब मोदी जी गुजरात के मुख्यमंत्री थे।

तानाशाह गद्दाफी, मुसोलिनी और हिटलर –प्रमोद तिवारी
कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने नोटबंदी के विरोध के नाम पर अपने ही देश के प्रधानमंत्री की तुलना दुनिया के कुछ कुख्यात तानाशाहों से कर दी। तिवारी ने कहा,’दुनिया के किसी भी विकसित देश ने आज तक ऐसा फैसला नहीं लिया। जिन लोगों ने ऐसा किया उनमें गद्दाफी, मुसोलिनी और हिटलर हैं। चौथा नाम है नरन्द्र मोदी।’

सांप, बिच्छू और गंदा आदमी-मणिशंकर अय्यर
कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ज्यादातर अपनी खराब जुबान के लिए भी चर्चा में आते हैं। इसी कड़ी में एक बार उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को “सांप, बिच्छू और गंदा बूढ़ा आदमी” कह दिया था।

रावण, पानी पुरुष- मणिशंकर अय्यर
कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर नरन्द्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करके अपनी सुर्खियां बटोरने में माहिर हैं। 2012 के गुजरात विधानसभा चुनावों के दौरान उन्होंने मोदी जी की तुलना असुर राजा रावण से किया था। अय्यर ने ये भी कहा था- “लौहपुरुष क्या….वे तो पानी पुरुष हैं।”

बंदर- सलमान खुर्शीद
तत्कालीन केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने 8 जून, 2013 को मोदी जी की बंदर के साथ तुलना की। उन्होंने कहा कि मोदी इस तरह भीड़ को खींचते हैं, जैसे लोग बंदर के करतब देखने जाते हैं।

भस्मासुर- जयराम रमेश
13 जून 2013 को तत्कालीन कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जयराम रमेश ने गुजरात के तब के सीएम नरेन्द्र मोदी को भस्मासुर कहा।

पागल कुत्ता- बेनी प्रसाद वर्मा
कांग्रेस नेता और तत्कालीन केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा ने 14 जुलाई, 2013 को नरेंद्र मोदी को पागल कुत्ता कहा। उन्होंने कहा,”लोकतंत्र के मंदिर को किसी पागल कुत्ते से प्रदूषित न होने दें।”

गंगू तेली- गुलाम नबी आजाद
कांग्रेसी नेता तत्कालीन केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद ने 17 अगस्त, 2013 को नरेंद्र मोदी को गंगू तेली बताया। उन्होंने कहा था- “राजा भोज और गंगू तेली के बीच तुलना कहां है।”

चूहे के बच्चे की तरह बिल में घुस जाएंगे- कल्याण बनर्जी
तृणमूल कांग्रेस नेता कल्याण बनर्जी ने पीएम मोदी को लेकर बहुत ही अमर्यादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था, “मोदी चूहे के बच्चे की तरह गुजरात में अपने बिल में घुस जाएंगे।”

हम उसके टुकड़े-टुकड़े कर देंगे- इमरान मसूद
उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के एक नेता इमरान मसूद ने आम चुनावों के दौरान मोदी जी के टुकड़े-टुकड़े करने की धमकी दी थी। उसने कहा था, “अगर मोदी ने उत्तर प्रदेश को गुजरात बनाने की कोशिश की तो हम उनके टुकड़े-टुकड़े कर देंगे।”

वायरस- रेणुका चौधरी
कांग्रेस नेता रेणुका चौधरी ने 7 जून, 2013 को नरेन्द्र मोदी को न्यूमोनिया की तरह का वायरस कहा और उसे नमोनिटिस का नाम दिया।

अर्जुन मोढवाडिया ने बंदर से भी तुलना की
2012 में अपने चुनावी रैली में तत्काली गुजरात कांग्रेस प्रमुख अर्जुन मोढवाडिया ने नरेन्द्र मोदी की तुलना बंदर से की थी।

मनीष तिवारी ने दाऊद इब्राहिम से की तुलना
कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने 2010 में नरेन्द्र मोदी की तुलना अंडर वर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से करने में जरा भी संकोच नहीं किया।

बदतमीज, नालायक, इसके मां-बाप कौन हैं?- रिजवान उस्मानी
कांग्रेस के एक नेता रिजवान उस्मानी ने 2009 के आम चुनावों के दौरान नरेन्द्र मोदी को न सिर्फ बदतमीज और नालायक कहा। बल्कि यह भी पूछा कि इसका बाप कौन है? इसकी मां कौन है?

हिटलर- शंताराम नाइक
गोवा कांग्रेस के नेता शंताराम नाइक ने 7 जून, 2013 में नरेन्द्र मोदी की तुलना हिटलर और तानाशाह पोल पोट से की थी

LEAVE A REPLY