Home विपक्ष विशेष सचिवालय में मिर्च फेंकने वाले आरोपी का कबूलनामा, केजरीवाल ने ही रची...

सचिवालय में मिर्च फेंकने वाले आरोपी का कबूलनामा, केजरीवाल ने ही रची खुद पर हमले की साजिश

80
SHARE

खबरों में बने रहने और मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी कैसी-कैसी साजिश करते हैं। इसका खुलासा एक बार फिर दिल्ली की कोर्ट में हो गया।

अरविंद केजरीवाल पर मिर्ची फेंकने के आरोपी ने आरोपी ने कोर्ट में ये चौंकाने वाला खुलासा किया कि मिर्ची फेंकने की साजिश खुद आम आदमी पार्टी के नेताओं ने ही रची थी।

आप नेताओं ने ही पब्लिसिटी स्टंट के लिए अरविंद केजरीवाल के ऊपर मिर्ची पाउडर फिंकवाया था। इसके लिए मुझे सीएम आवास बुलाया गया और सारे निर्देश दिये गए।

अनिल शर्मा, आरोपी

दरअसल दिल्ली सरकार के सचिवालय में अनिल शर्मा ने 20 नवंबर को सीएम अरविंद केजरीवाल पर मिर्ची फेंकी थी। उसे रिमांड के बाद दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां उसने साजिश का कच्चा चिट्ठा खोल दिया। साजिश के तहत अनिल शर्मा को केजरीवाल के आवास पर बुलाकर दिशा निर्देश दिये गये। इसके बाद एक अज्ञात व्यक्ति ने सचिवालय में एंट्री के दौरान उसकी चैकिंग भी नहीं होने दी। हालांकि मिर्ची फेंकते ही शर्मा को दिल्ली पुलिस ने पकड़ लिया।

केजरीवाल पर मिर्ची फेंकने की घटना की बीजेपी ने कड़ी निंदा की थी। लेकिन आम आदमी पार्टी शुरू से ही इसे बीजेपी की साजिश बताने लगी। आम आदमी पार्टी ने इस घटना पर ट्वीट कहा था कि “दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर घातक हमला, दिल्ली पुलिस की तरफ से सुरक्षा में बड़ी चूक। दिल्ली में मुख्यमंत्री भी सुरक्षित नहीं। तो आम जनता कैसे सुरक्षित रहेगी।” लेकिन अब इस खुलासे से आम आदमी पार्टी की फजीहत हो रही है। केजरीवाल पर अब तक करीब 10 बार जूते, थप्पड़, स्याही से हमला हो चुका है और अब अंदाजा लगाया जा रहा है कि इन सभी हमलों की साजिश खुद आम आदमी पार्टी ने ही रची होगी।

इस तरह पिटते रहे केजरीवाल 

18 अक्टूबर 2011, लखनऊ

2011 में लखनऊ में एक बैठक के दौरान टीम अन्ना के सदस्य ने अरविंद केजरीवाल पर चप्पल से हमला किया था। चप्पल फेंकने वाले शख्स का नाम जीतेंद्र था।

2013

अन्ना हजारे के समर्थक एक शख्स ने स्याही फेंककर हमला किया। आरोपी ने बताया था कि वह केजरीवाल से नाराज था क्योंकि उन्होंने अन्ना हजारे के आंदोलन को छोड़कर पार्टी बना ली।

5 मार्च 2014, हैदराबाद

केजरीवाल की गाड़ी पर पत्थर फेंकें गए। । इस हमले में केजरीवाल बाल-बाल बच गए।

25 मार्च 2014, वाराणसी

लोकसभा चुनाव के दौरान वाराणसी में केजरीवाल पर स्याही और अंडे फेंके गए। 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान केजरीवाल को सबसे ज्यादा विरोध पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में झेलना पड़ा था। यहां उन पर स्याही से लेकर अंडे तक फेंके गए थे।

28 मार्च 2014, हरियाणा

अन्ना हजारे के एक समर्थक ने केजरीवाल को थप्पड़ मारा। चुनाव प्रचार के दौरान ही केजरीवाल को एक शख्स ने थप्पड़ भी मारा था।

4 अप्रैल 2014, दिल्ली

एक रोड शो के दौरान केजरीवाल की पीठ पर एक शख्स ने मारने की कोशिश की। हालांकि उसे कामयाब नहीं मिली।

8 अप्रैल 2014, दिल्ली

सुल्तानपुरी में एक ऑटो ड्राइवर ने केजरीवाल को थप्पड़ मारा। बाद में केजरीवाल उसके घर फूल भी लेकर गए थे, क्योंकि वह केजरीवाल से नाराज था।

जनवरी 2016, दिल्ली

आम आदमी सेना की सदस्य भावना अरोड़ा ने केजरीवाल पर स्याही फेंकी थी। यह वाकया तब हुआ था जब पहली बार दिल्ली में ऑड-ईवन लागू हुआ था और उसकी सफलता का जश्न मनाया जा रहा था।

9 अप्रैल 2016, दिल्ली

ऑड-ईवन के स्टिकर को लेकर स्टिंग मामले में फेंका जूता। आरोपी शख्स का नाम वेद प्रकाश था। वह केजरीवाल से सीएनजी स्टिकर को पैसे लेकर बेचने वाले स्टिंग को लेकर सवाल कर रहा था। यह स्टिंग आम आदमी सेना की टीम ने ही किया था।

20 नवंबर 2018, दिल्ली

सचिवालय के अंदर घुसकर अरविंद केजरीवाल से मिलने के बहाने फेंका मिर्ची पाउडर। आरोपी अनिल का कहना है कि इसके लिए उसे आम आदमी पार्टी के नेताओं ने ही कहा था।

LEAVE A REPLY