Home समाचार भारत की दृढ़ता से बौखलाया ड्रैगन, दे रहा अनाप-शनाप बयान

भारत की दृढ़ता से बौखलाया ड्रैगन, दे रहा अनाप-शनाप बयान

252
SHARE

सिक्किम के डोकालाम में चीनी सैनिक और भारत के सैनिक आमने-सामने है। चीन-भारत के बीच तनाव चरम पर है। चीन की हेकड़ी बढ़ती जा रही है, वहीं भारत दृढ़ता के साथ अपने स्टैंड पर कायम है। चीन किस कदर बौखलाया हुआ है इस बात का अंदाजा इस बात से लगता है कि वो कभी सिक्किम में विद्रोह को हवा देने की बात करता है, तो दूसरी तरफ जर्मनी में होने वाली जी-20 के दौरान होने वाली बैठक में चीन के राष्ट्रपति और पीएम नरेंद्र मोदी की मुलाकात की खबरें उड़ाता है और फिर पीछे भी हट जाता है। लेकिन भारत संयम के साथ अपने स्टैंड पर कायम है।

सिक्किम में विद्रोह को हवा देना चाहता है चीन
भारत में सिक्किम का विलय हुए बयालीस साल हो गए हैं, लेकिन चीन अपनी चालबाजी से बाज नहीं आ रहा है। चीन बार-बार यह जताने की कोशिश कर रहा है कि वह भारत की अंदरूनी राजनीति में भी दखल रखता है। लेकिन चीन की इस चतुराई को एक्सपर्ट उसका मनोवैज्ञानिक खेल बता रहे हैं।

G-20 में नहीं होगी कोई द्विपक्षीय बैठक
सिक्किम सेक्टर में दोनों देशों की सेना के बीच जारी गतिरोध के बीच चीन ने कहा कि जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनिफंग की द्विपक्षीय वार्ता के लिए माहौल सही नहीं है। हालांकि दोनों नेता शुक्रवार को होने वाली ब्रिक्स देशों की बैठक में भाग लेंगे। लेकिन चीन को यह कहने की जरूरत इसलिए पड़ी कि चीन भारत पर अपना वर्चस्व दिखाना चाहता है। लेकिन सच्चाई तो यह है कि भारत ने किसी बैठक की बात तक नहीं की है।


अलग-थलग पड़ जाएगा चीन-पाकिस्तान!
दरअसल अमेरिका, इजरायल, जापान, वियतनाम जैसे देशों से भारत के बेहतर होते संबंधों से चीन चिढ़ा हुआ है। दूसरी तरफ चीन का गठजोड़ पाकिस्तान और उत्तर कोरिया जैसे देशों से प्रगाढ़ है। ऐसे में भारत की नीतियों से जिस तरह पाकिस्तान आतंकवाद के कारण अलग-थलग पड़ता जा रहा है, उसी तरह चीन की विस्तारवादी नीति उसे दुनिया से अलग-थलग कर रही है। इतना ही नहीं भारत के पश्चिमी सीमा पर बुरी तरह पस्त हो रहा पाकिस्तान भी चीन की शरण में है। इसलिए चीन भारत को पश्चिमी सीमा पर कमजोर करने की नीति पर भी चल रहा है।

LEAVE A REPLY