Home झूठ का पर्दाफाश गुजरात में आखिरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने बोले 5 झूठ,...

गुजरात में आखिरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने बोले 5 झूठ, सबूत के साथ देखिए

617
SHARE

पहला झूठ – नरेन्द्र मोदी जी मेरे बारे में गलत बोलते हैं, लेकिन मैं नहीं बोलूंगा?
सच्चाई – राहुल गांधी जी आपकी पार्टी के नेता इस चुनाव में भी लगातार प्रधानमंत्री के बारे में अपशब्दों का इस्तेमाल करते रहे हैं। मणिशंकर अय्यर और सलमान निजामी तो ताजा उदाहरण है। इससे पहले तो आपका परिवार ही मोदी जी के बारे में गालियां देता रहा है। खून की दलाली करने वाला आपने बताया था। जबकि आपकी मां और बहन ने नीच आदमी कहा था। आपकी मां सोनिया गांधी तो मौत का सौदागर तक कह चुकी हैं। जबकि प्रधानमंत्री मोदी ने आज तक एक बार भी गलत शब्द नहीं कहा है।

कांग्रेसी गाली नंबर – 28, देखिए कब-कब कांग्रेसी नेताओं ने दी है प्रधानमंत्री मोदी को गाली

दूसरा झूठ – 22 साल में एकतरफा विकास किया। सिर्फ 5-6 लोगों का फायदा किया।
सच्चाई – राहुल गांधी जी ने जिस अंदाज ये झूठ बोला, उससे उन्होंने सिर्फ जनता का ही अपमान किया है। सवाल यह है कि क्या सिर्फ 5-6 लोगों का फायदा करने पर भी जनता उन्हें 22 साल तक लगातार वोट देती रही। राहुल गांधी शायद जानना नहीं चाहते हैं कि गुजरात मॉडल किसे कहते हैं। उन्हें ये लेख जरूर पढ़ना चाहिए।

गुजरात मॉडल का मतलब वाकई में जानते हैं राहुल ?

गुजरात की सड़कें हो या बिजली, किसान हो या व्यपारी – हर वर्ग विकास की नई तस्वीर पेश करता है। आज स्थिति ये है कि विकास के कई पैमानों पर गुजरात देश में नंबर एक हैं। इन लेखों पर भी नजर डालिए।

देश में गुजरात बना नजीर, जानिए कैसे?
प्रधानमंत्री मोदी के दिल में बसता है गुजरात, सपना और लक्ष्य है प्रदेश का विकास
वो चुनौतियां जिसने गुजरात की सूरत बदल दी
जनशक्ति की बुनियाद पर हुआ गुजरात का विकास
मोदी राज के चंद सितारे जो दुनिया के लिए हैं नजीर
‘पंच शक्ति’ से हुआ गुजरात का विकास

तीसरा झूठ – सिर्फ एक कंपनी को 33 हजार करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया और 47 हजार हेक्टेअर जमीन दे दी।
सच्चाई – राहुल गांधी के इस झूठ का पर्दाफाश टाटा कंपनी ने ही कर दिया। टाटा मोटर्स ने कुछ ही दिन पहले एक बयान जारी कर राहुल के झूठ की धज्जियां उड़ाई थीं।
A. टाटा मोटर्स ने जानकारी कहा था कि गुजरात सरकार ने जो लोन दिया था वो दान नहीं था बल्कि कर्ज के रूप में दिया था।
B. टाटा मोटर्स को जो कर्ज मिला, वह गुजरातियों के पैसे का नहीं था, बल्कि टाटा मोटर्स के टैक्स का ही पैसा था।
C. अब तक राज्य सरकार ने टाटा मोटर्स को 584.8 करोड़ रुपये का लोन दिया, जो उन्होंने चुका दिया है
D. नैनो कार की वजह से दुनिया भर की नजरें भारत की तरफ टिकी थीं। निवेश के लिए एक बेहतर माहौल तैयार हुआ था।

झूठ नंबर – 4 – गुजरात में सबसे ज्यादा बुरा हाल बेरोजगारी का है।
सच्चाई – रोजगार देने में गुजरात देश में सबसे आगे है। एम्पलॉयमेंट एक्सचेंज में दर्ज आंकड़ों के मुताबिक 85.9% लोगों को रोजगार मिल जाता है। इसका मतलब यह है कि अगर 100 लोगों ने अपने आप को रजिस्टर किया तो फिर 85.9 लोगों को रोजगार प्राप्त हो गया।

झूठ नंबर – 5 – प्रधानमंत्री ने भ्रष्टाचार और विकास पर बात करना बंद कर दिया है।
सच्चाई – यह एक ऐसा झूठ है, जिसका जवाब हो सकता है – उल्टा चोर कोतवाल को डांटे। अल्फाबेट्स के हिसाब से घोटाले का रिकॉर्ड बनाने वाली कांग्रेस पार्टी के नए नवेले अध्यक्ष राहुल गांधी ने जिस अंदाज में भ्रष्टाचार को लेकर ही मोदी पर सवाल उठा दिया है, वो शर्मनाक है। 2G, 3G, कोलगेट, कॉमनवेल्थ जैसे लाखों करोड़ का घोटाले करने वाली कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी इस विषय पर खुद ही घिर गए हैं।

कांग्रेस के घोटालों की लिस्ट देखिए।

गांधी परिवार के पर्सनल घोटालों की लिस्ट पढ़िए।

इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात में अब तक जितनी भी रैलियां की हैं, उसमें उन्होंने अपने विकास कार्यों को जरूर गिनाया है। प्रधानमंत्री मोदी ने एक-एक योजना को गिनाते हुए कहा कि क्या शौचायल का निर्माण या फिर उज्जवला योजना में फ्री में सिलेंडर देने से किसी उद्योगपति को फायदा हुआ है या फिर किसी गरीब को।

LEAVE A REPLY