Home विपक्ष विशेष डेटा चोर कंपनी ने कांग्रेस के लिए तैयार कर लिया था पूरा...

डेटा चोर कंपनी ने कांग्रेस के लिए तैयार कर लिया था पूरा ‘ प्लान’

111
SHARE

कांग्रेस शुरू से कैंब्रिज एनालिटीका के किसी भी व्यक्ति से मुलाकात के आरोपों को लगातार नकारती और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर झूठे आरोप लगाती रही है, लेकिन अब धीरे-धीरे कुछ ऐसे सबूत सामने आने लगे हैं, जो यह साबित करते हैं कि कैंब्रिज एनालिटीका कांग्रेस के लिए कर्नाटक, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों और 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए काम कर रही है।

अंग्रेजी पत्रिका OPEN के ताजा अंक (30 मार्च) में प्रकाशित रिपोर्ट बताती है कि किस तरह से फेसबुक डेटा चुराने वाली कंपनी कैब्रिज एनालिटीका कांग्रेस के लिए काम कर रही है। रिपोर्ट, पूरे सबूत के साथ कहती है कि कैब्रिज एनालिटीका ने कर्नाटक, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों के साथ 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए पूरा रणनीतिक प्लान तैयार कर लिया था।

रिपोर्ट बताती है कि कैंब्रिज एनालिटीका ने रणनीतिक प्लान के उद्देश्यों को लेकर कांग्रेस को बताया है कि  ‘designed to disrupt the BJP’s current monopoly on India’s ‘smartphone voters’ by building a world-class data and digital capacity for the INC in similar vein to what we did for the Trump campaign in 2016’ ( हमने जिस तरह 2016 में ट्रंप के प्रचार अभियान के लिए विश्व स्तर का डेटा और डिजिटल शक्ति तैयार की थी, वैसा ही हम कांग्रेस के लिए करेगें जिससे वर्तमान में भाजपा का स्मार्टफोन मतदाताओं पर एकाधिकार समाप्त किया जा सके)। रिपोर्ट में कांग्रेस के रणनीतिक उद्देश्य के बारे में लिखा गया है कि ‘when the INC faces its first existential challenge at the 2019 Lok Sabha and competes with the incumbent BJP’. ( 2019 एक ऐसा लोक सभा का चुनाव है जिसमें कांग्रेस पहली बार अपने वजूद  को बचाने के लिए सत्ता पर काबिज दल भाजपा का सामना करेगी)

कैब्रिज एनालिटीका की कांग्रेस के लिए तैयार की गई इस रिपोर्ट के Executive Summary में लिखा है कि रणनीतिक रिपोर्ट में चुनाव से सबंधित योजना  national situational analysis; a national data infrastructure project; a data-driven campaign for 2019 Lok Sabha; and state assembly elections को केन्द्र में रखकर तैयार किया गया है।

कांग्रेस के लिए नई Communication नीति-  कांग्रेस के लिए तैयार की गई इस रिपोर्ट के National Situational Analysis में लिखा है कि कांग्रेस की वर्तमान में Communication के लिए किए जा रहे क्रिया कलापों और सार्मथ्य का विश्लेषण आवश्यक है, क्योंकि इसी विश्लेषण से प्राप्त निष्कर्षों को पूरे भारत में लागू करके कांग्रेस के Communication  को और अधिक प्रभावशाली बनाया जा सकता है।

कांग्रेस के लिए देश भर में Operation Centers की स्थापना- 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में ट्रंप के लिए बनाये  गये Operation Centers  की तरह कांग्रेस के लिए भी Operation Centers बनाने के प्लान के बारे में रिपोर्ट के दूसरे सेक्शन national data infrastructure project में लिखा गया है। देश भर में कैब्रिज एनालिटीका ने तमाम स्रोतों से एकत्र किए गये डेटा के आधार पर एक ढांचा तैयार करने का प्लान तैयार किया। डेटा के इस मूलभूत ढांचे से कांग्रेस के Communication में co-ordination और प्रभावशाली सामग्रियों की कमी खत्म करना है। 

कांग्रेस के लिए व्यक्तिगत डेटा पर आधारित, 2019 के लिए कैंपेन- कैब्रिज एनालिटीका रिपोर्ट के तीसरे सेक्शन में 2019 के लोकसभा के चुनावों के लिए मतदाताओं के ऐसे व्यक्तिगत डेटा उपलब्ध कराने की बात करती है, जिसके आधार पर व्यक्ति विशेष के लिए Communication सामग्री तैयार की जा सकती है और उसके मत डालने के रुझान को प्रभावित किया जा सकता है। रिपोर्ट के इसी सेक्शन को अमल में लाने के लिए कंपनी फेसबुक जैसी कंपनियों से व्यक्तिगत डेटा चोरी करती है, और ऐसा ही काम अमेरिकी चुनाव में 2016 में किया।

कांग्रेस के लिए कर्नाटक, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों की भी रणनीति रिपोर्ट के अंतिम सेक्शन – State assembly Election में कंपनी का प्लान है कि इसे भी उतनी ही गंभीरता से लिया जाए, जितना की 2019 का लोकसभा चुनाव है। ये चुनाव ही 2019 के आधार हैं। इसमें मिली सफलता से कांग्रेस में और देश में आत्मविश्वास पैदा होगा, जो 2019 की जीत के लिए जरूरी है। इन तीनों ही विधानसभा चुनावों में डेटा के आधार पर जनता के रोष को समझकर, उसके अनुसार Communication सामग्री तैयार करने और प्रचारित करने का प्लान है, ताकि जनता के मूड को कांग्रेस के पक्ष में वोट डालने के लिए बदल दिया जाए।

राहुल गांधी की मुलाकातों की तस्वीरें भी सामने आयीं- हाल में कई तस्वीरें सामने आयी हैं जो बयान करती हैं कि राहुल गांधी ने कंपनी के सीइओ से लंदन ऑफिस में मुलाकात की। लंदन में कैब्रिज एनालिटीका के कार्यलय में कांग्रेस के हाथ के पोस्टर का फ्रेम भी लगा है। आप भी वह वीडियो और तस्वीर देखिए-

राहुल गांधी ने कांग्रेस की जीत के लिए एक ऐसी कंपनी से मिल कर काम करने का निर्णय लिया है, जिसके लिए नैतिकता का कोई मतलब नहीं है। ऐसी कंपनी धन के लिए भारतीय चुनावों को प्रभावित करने के लिए किसी भी देश या व्यक्ति के हाथों बिक सकती है, चाहे वह कोई आतंकवादी देश ही क्यों न हो। राहुल गांधी और कांग्रेस ने देश के मतदाताओं के साथ लोकतंत्र का सबसे बड़ा विश्वासघात किया है।

LEAVE A REPLY