Home विचार देश के टुकड़े-टुकड़े करने के पल रहे ‘अरमान’… ‘अखंड भारत’ में कितने...

देश के टुकड़े-टुकड़े करने के पल रहे ‘अरमान’… ‘अखंड भारत’ में कितने पाकिस्तान?

544
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी जनसभाओं के समापन में उपस्थित जनसमूह से ‘भारत माता की जय’ का नारा लगवाते हैं। लोगों की भीड़ भी बड़े उत्साह से उनका साथ देती है और पूरा वातावरण ‘मां भारती’ के सम्मान में लगने वाले नारों से गुंजायमान हो जाता है। दरअसल इसके पीछे एक बड़ा संदेश छिपा होता है। नागरिकों में अपने देश के प्रति उनके योगदान के लिए उत्साहवर्धन करने  के साथ लोगों में राष्ट्र के प्रति उनके दायित्वबोध का अहसास करवाना भी एक उद्देश्य है।

अक्सर आप देखेंगे कि भारतीय जनता पार्टी का कोई भी प्रत्याशी जब भी चुनाव जीतता है तो उनके विजय जुलूस में ‘भारत माता की जय’ के नारे लगते हैं। परन्तु दूसरे दलों के कई प्रत्याशियों की जीत पर अब अक्सर आप ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ या ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा सुनेंगे। जाहिर है ऐसा होना देश की एकता-अखंडता के लिए चिंता का विषय है।

आखिर अपने ही देश के टुकड़े-टुकड़े करने के अरमान क्यों पल रहे हैं? सोचनीय यह भी है कि हमारे देश का दुश्मन पाकिस्तान के लिए जिंदाबाद के नारे क्यों लग रहे हैं? आखिर ये कैसी राजनीति है जो देश की अखंडता को तार-तार करने वालों पर चुप्पी साध जाती है, वहीं भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाने पर हो-हल्ला करती है?

आइये हम नजर डालते हैं हाल-फिलहाल में हुए कुछ ऐसे वाकयों पर जब पाकिस्तान जिंदाबाद और भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगे-

बिहार: अररिया में ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ 
ताजा मामला बिहार के अररिया लोकसभा क्षेत्र में राष्ट्रीय जनता दल के प्रत्याशी की जीत के बाद सामने आया है। 14 मार्च, 2018 को सरफराज आलम की जीत के बाद ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ और ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए गए। खास बात ये है कि जिसने ये नारे लगाए वह सांसद का करीबी माना जाता है और ये नारे सांसद महोदय के घर के सामने ही लगाए गए।

हालांकि अररिया पुलिस ने इस वायरल वीडियो का स्वत: संज्ञान लेते हुए जांच किया और 3 आरोपियों में से दो, सज्जाद और सुल्तान आजमी को गिरफ्तार भी कर लिया। हालांकि मुख्य आरोपी अभी भी फरार है। अब सवाल उठता है कि एक सांसद की जीत का जश्न मना रहे लोग देश के ही टुकड़े-टुकड़े करने का स्याह अरमान क्यों पाल रहे हैं? आखिर क्यों ये लोग दुश्मन देश पाकिस्तान के लिए जिंदाबाद कर रहे हैं? ये एफआईआर की वह कॉपी है जो इलाके के थानेदार दीपांकर श्री ज्ञान ने स्वयं लिखवाई है। आप इस एफआईआर को पढ़कर समझ जाएंगे कि अररिया में क्या हो रहा है?

कासगंज: 26 जनवरी को ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’
उत्तर प्रदेश के कासगंज में 26 जनवरी, 2018 को युवकों के एक समूह ने तिरंगा यात्रा के लिए मोटरसाइकिल रैली निकाली, परन्तु एक समुदाय विशेष के मोहल्ले से गुजरने के दौरान उन्हें रोक कर पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने के लिए कहा गया। विरोध करने पर इसमें एक युवक की मौत हो गई।

बुलंदशहर : बसपा की जीत पर ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’
उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के सिकंदराबाद थाना क्षेत्र में निकाय चुनाव जीतने वाली बीएसपी नेता बब्बो परवीन के समर्थकों पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने के आरोप लगे। 4 दिसंबर, 2017 की इस घटना का वीडियो वायरल होने पर बब्बो परवीन सहित उनके 150 से ज्यादा समर्थकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

गाजियाबाद: AIMIM की सभा में ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’
25 नवंबर, 2017 को गाजियाबाद के शहीद नगर इलाके में आल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुसलमीन यानि AIMIM की रैली में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए। इलाके से रैली समर्थकों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ जिसमें AIMIM समर्थकों को पार्टी का झंडा लिए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए साफ देखा जा सकता है।

मुरादाबाद: कांग्रेस रैली में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’
25 सितंबर, 2016 को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में कांग्रेसी नेताओं ने रैली निकाली जिसमें पाकिस्तान जिंदाबाद के भी नारे लगाए गए।

चित्रकूट: प्रशासन के सामने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’
28 मई, 2017 को कुछ लोगों ने प्रशासन की मौजूदगी में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए। इस घटना का वीडियो भी वायरल हुआ। 

सीतापुर: जीत के लिए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’
उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले की लहरपुर नगरपालिका से निर्दलीय मुस्लिम प्रत्याशी हाजी सिराज के चुनाव प्रचार के दौरान पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जाने का मामला सामने आया।

जम्मू-कश्मीर: विधानसभा में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’
10 फरवरी, 2018 को नेशनल कॉन्फ्रेंस के एक विधायक अकबर लोन ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। खुद को सही ठहराते हुए विधायक ने कहा कि यह उनका अपना मत है और इससे किसी दूसरे को दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

राजस्थान: डीडवाना में पाकिस्तान जिंदाबाद
9 जून, 2017 को नागौर जिले के डीडवाना कस्बे में नागौरी गेट के सामने एक समुदाय विशेष के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान लोगों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए।

हरियाणा: यमुनानगर में पाकिस्तान जिंदाबाद
आठ दिसंबर, 2014 को हरियाणा में यमुना नगर के एक प्राइवेट कॉलेज में छात्रों के दो गुटों के बीच आपस में खूनी भिडंत हो गई और एक ग्रुप पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने लगा।

दिल्ली: JNU में ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ 
9 फरवरी, 2016 के उस वाकये को देश अभी भी नहीं भूला है जब देश के प्रतिष्ठित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में नारे लगे थे- भारत तेरे टुकड़े होंगे… इंशाअल्ला, इंशाअल्ला…। हम क्या चाहें… आजादी। अफजल हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं। उमर खालिद, अनिर्बान और कन्हैया कुमार की अगुआई में ये नारे उसी तारीख को लगे थे, जिस दिन भारतीय संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरु को फांसी दी गई थी।

कोलकाता: जाधवपुर यूनिवर्सिटी में 
16 फरवरी, 2016 को जेएनयू की तर्ज पर पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता स्थित प्रसिद्ध जादवपुर यूनिवर्सिटी में ‘आजादी’ के नारे लगाए गए। आतंकी अफजल गुरु और इमरानी का नाम लेकर छात्रों ने देश को तोड़ने के नारे लगाए। 

02 अप्रैल, 2017 को जाधवपुर यूनिवर्सिटी के फाइन आर्ट्स विभाग के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने यहां कश्मीर, मणिपुर और नगालैंड के लिए ‘आजादी’ के नारे लगाए।

दरअसल ये ऐसी सोच है जो भारत की एकता-अखंडता के लिए बड़ा खतरा है। एक साजिश के तहत मुस्लिम आबादी का दोगुनी रफ्तार से बढ़ता जाना हमारे देश के भविष्य के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं। तुच्छ स्वार्थ में आकर सीमावर्ती इलाकों में पाकिस्तान समर्थक तत्वों को बसाने की राजनीति इसी अरमान को अमलीजामा पहनाने का एक जरिया बन रहा है। पश्चिम बंगाल, असम, त्रिपुरा और बिहार के साथ अन्य कई राज्यों में ये खतरा मंडरा रहा है।

LEAVE A REPLY