Home विचार ‘चोरी’ तो कांग्रेस की पुरानी आदत है!

‘चोरी’ तो कांग्रेस की पुरानी आदत है!

403
SHARE

कांग्रेस पर देश के पांच करोड़ लोगों का डाटा चोरी करने का आरोप लग रहा है, लेकिन वह इनकार कर रही है। हालांकि इसमें सच्चाई क्या है यह तो जांच के बाद ही पता लगेगा, परन्तु यह तथ्य भी है और यही सत्य भी है कि कांग्रेस देश में केवल डेटा ही नहीं, बल्कि कई चीजें चोरी करती रही है।

‘डेटा’ चोरी करती है कांग्रेस
भारत में टेलीकॉम सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनी जियो की लॉन्चिंग के मौके पर मुकेश अंबानी ने कहा था कि ‘डेटा इज द न्यू ऑयल’… अब आप इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं डेटा कितना महत्वपूर्ण हैं। लेकिन कांग्रेस ने देश के 5 करोड़ लोगों का डेटा लीक कर दिया और उसका गलत इस्तेमाल किया। अब तो एक और फर्जीवाड़ा सामने आया है कि कांग्रेस पार्टी का ऐप प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं है। बदलाव का मैसेज आ रहा है, जाहिर है सवाल उठ रहा है कि आखिर कांग्रेस पार्टी क्या छिपाने की कोशिश कर रही है?

‘वोट’ चोरी करती है कांग्रेस
कांग्रेस पार्टी वोट की भी चोरी करती रही है। गुजरात चुनाव में राज्यसभा उम्मीदवार अहमद पटेल को जिताने के लिए किस तरीके से तिकड़म किया गया ये सभी जानते हैं। पहले तो अपने 44 विधायकों को कर्नाटक के होटल में कैद रखा और चुनाव के दिन भी भाजपा के वोट को अपने पाले में करने के लिए करोड़ों खर्च किए तब जाकर अहमद पटेल 0.49 के मार्जिन से जीत सके थे।

‘धर्म’ चोरी करती है कांग्रेस
गुजरात चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने लगातार मंदिरों का दौरा किया। वे यह जताने की कोशिश करते रहे कि वह भी हिंदू हैं। हालांकि प्रदेश की जनता समझदार थी और उनके झांसे में नहीं आई। अगर कांग्रेस पार्टी का इतिहास देखें तो वह हमेशा हिंदुओं को अपमानित करती रही है। विशेष कर नेहरू-गांधी परिवार वक्त के अनुसार अपना चोला बदलती रहती है।

‘जाति’ चोरी करती है कांग्रेस
राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी है और उनके पिता का नाम फिरोज गांधी, लेकिन राहुल खुद को जनेऊधारी ब्राह्मण बताते हैं। गुजरात चुनाव के दौरान सबने देखा कि उन्होंने खुद के हिंदू होने पर सवाल उठने के बाद जनेऊधारी बता दिया। कई तस्वीरें भी जारी कीं जिससे लगे कि वे वाकई में ब्राह्मण हैं, परन्तु आप ही सोचिये, ऐसा है क्या?

देश का ‘चैन’ चोरी करती है कांग्रेस
कांग्रेस पार्टी लगातार कई ऐसी हरकतें करती है जिससे देश का ‘चैन’ चोरी हो जाता है। दुश्मन देश पाकिस्तान में जाकर कांग्रेस के नेता मणिशंकर अय्यर का भारत के चुनावों में कांग्रेस को सपोर्ट करने की गुहार लगाना हो या फिर डोकलाम विवाद के दौरान चोरी छिपे चीन के राजदूत से मिलने जाना हो। इतना ही नहीं हिंदुओं को बांटने के लिए लिंगायत को अलग धर्म घोषित करना हो या फिर दक्षिण भारत में द्रविडनाडु के नाम पर अलगाववाद की सियासत करना हो। इतना ही नहीं देश की सेना पर सवाल उठाना हो या सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगने की बात, ये सब देश का चैन चोरी करने की ही बात है।

LEAVE A REPLY