Home विपक्ष विशेष किसी भी कीमत पर जीत पाने को कांग्रेस की साजिश का पर्दाफाश

किसी भी कीमत पर जीत पाने को कांग्रेस की साजिश का पर्दाफाश

467
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सत्ता से बेदखल करने और खुद सत्ता पर काबिज होने के लिए कांग्रेस ने साजिश रची जिसका पर्दाफाश हो गया है। जल बिना मछली की तरह सत्ता के लिए तड़प रही कांग्रेस इस स्तर तक गिर जाएगी, इसका अनुमान किसी को भी नहीं रहा होगा। सत्ता की भूखी कांग्रेस अपने फायदे के लिए विदेशी कंपनी के जरिए देशवासियों के पर्सनल डाटा ही चोरी करा दिया।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार 2019 के चुनाव के लिए कांग्रेस ने 2017 में ही डाटा एनालिसिस कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका से करार कर लिया था। कांग्रेस ने यह निर्णय कैंब्रिज एनालिटिका को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव में मिली अप्रत्याशित और जबरदस्त जीत के कारण लिया।

कांग्रेस के लिए चोरी- इस बात का खुलासा हुआ है कि कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी ने कांग्रेस को 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत को पक्का करने के लिए 25 करोड़ भारतीयों के डाटा चुराने का प्लान तैयार किया था। कंपनी की कांग्रेस के लिए योजना थी कि 543 लोकसभा सीटों के लिए 25 करोड़ भारतीयों के डाटा को चोरी से एकत्र किया जाए और डाटा के विश्लेषण से 2019 में कांग्रेस की सफलता सुनिश्चित करने वाले चुनाव अभियान की शुरुआत की जाए।

कांग्रेस के लिए चोरी का पता कैसे चला- सारी जानकारी उस छानबीन से सामने आ रही है, जिसमें कैंब्रिज एनालिटिका ने 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनाव में, डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव प्रचार के अभियान के लिए 5-6 करोड़ अमेरिकी नागरिकों का डाटा, फेसबुक से चुराया था।

कांग्रेस अपनी हार की हताशा को खत्म करने के लिए किसी भी कीमत पर चुनाव जीतना चाहती है। धर्म और जाति के आधार बंटवारा करने के बावजूद भी कांग्रेस चुनाव हारती जा रही है, ऐसी परिस्थिति अब डाटा चोरी का ही रास्ता बचा है, जिसके जरिए कांग्रेस चुनाव में जीत हासिल करना चाहती है।

LEAVE A REPLY