Home विपक्ष विशेष राहुल गांधी के अध्यक्ष बनते ही कांग्रेस में गाली-गलौज की भाषा शुरू

राहुल गांधी के अध्यक्ष बनते ही कांग्रेस में गाली-गलौज की भाषा शुरू

435
SHARE

राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभालने के बाद पार्टी की दशा और दिशा क्या होगी, इसकी तस्वीर अभी से नजर आने लगी है। जिस पार्टी की अध्यक्षता महात्मा गांधी और सरदार पटेल जैसे नेताओं ने की है, आज वह कांग्रेस नैतिकता के पतन की ओर है। ऐसा लगता है कि अब कांग्रेस में सिर्फ गाली-गलौच की भाषा में ही बात होगी। अभी मणिशंकर अय्यर वाले मामले में कांग्रेस की नौटंकी फीकी भी नहीं पड़ी थी कि उनका अगला नौनिहाल सलमान निजामी पैदा हो गया है, जो गुजरात में कांग्रेस पार्टी का प्रचार कर रहा है। गाली-गलौज में माहिर सलमान निजामी की घटिया जुबान के उदाहरण तो सैकड़ों हैं, पर इस बार तो उसने हर सीमा ही लांघ दी।

इस बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए गाली-गालौज भरी भाषा का इस्तेमाल कर के सलमान निजामी केवल मोदी जी का ही अपमान नहीं कर रहे हैं, बल्कि इस देश के हर उस नागरिक का अपमान कर रहे हैं, जिसने अपने वोट द्वारा नरेन्द्र मोदी को दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का नेतृत्व सौंपा है। जरा देखिए, कितना घटिया है सलमान निजामी की भाषा का स्तर –

इस देश के हर घर से एक अफजल निकलने की बात कहने वाले कांग्रेसी नेता सलमान निजामी को तो देश के लिए अपने प्राण तक न्यौछावर कर देने वाली सेना रेपिस्ट लगती है। आप स्वयं देखिए कि इस ट्वीट में क्या कह रहा है यह व्यक्ति

Salman Nizami asks on Twitter- Modi who is your father, who is your mother. Among the other things he says- he calls for Azad Kashmir. He calls our army rapists. How can the people accept such people like Salman Nizami. He also says there will be an Afzal from every home: PM

— narendramodi_in (@narendramodi_in) December 9, 2017

अफजल जैसे लोगों को अपना हीरो मानने वाले सलमान निजामी जैसे देश के गद्दारों के लिए कांग्रेस पार्टी ने अपने दरवाजे पर रेड कार्पेट बिछा रखा है तो इसमें हैरत किस बात की। कांग्रेस अपनी अब तक की राजनीति का इतिहास ही तो दोहरा रही है। अब देखना यह है कि जिस प्रकार मणिशंकर अय्यर द्वारा प्रधानमंत्री के लिए अपशब्द का इस्तेमाल करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की गई, क्या वैसी ही नैतिकता इस मामले में भी दिखाई जाएगी?

यदि सलमान को अपनी गैर जिम्मेदाराना हरकत पर कोई शर्म और बुजदिली महसूस महसूस नहीं हो रही है तो फिर उन्हें अपनी इस घटिया हरकत पर पर्दा डालने के लिए अपना ट्वीटर अकाउंट छिपाने की क्या जरूरत थी। ऐसे घटियापन के लिए इस देश की जनता कभी इन्हें माफ नहीं करेगी।

इस पूरे मामले ने कांग्रेस को कठघरे में खड़ा कर दिया है। जाहिर है राहुल गांधी को कई सवालों के जवाब देने होंगे

क्या कांग्रेस का भविष्य़ सलमान निजामी जैसे नेता संभालेंगे?

क्या राहुल गांधी सलमान निजामी के बयान का समर्थन करते हैं?

क्या राहुल गांधी ने नेताओं को गाली-गलौज करने को कहा है?

अगर नहीं कहा है तो फिर क्या उनके नेता उन्हीं की बात नहीं सुन रहे हैं?

अगर राहुल गांधी अपने नेताओं को नहीं संभाल पा रहे हैं तो पूरी पार्टी को कैसे संभालेंगे?

LEAVE A REPLY