Home चुनावी हलचल धर्म देखकर काम करते हैं अखिलेश- देखिए सबूत

धर्म देखकर काम करते हैं अखिलेश- देखिए सबूत

579
SHARE

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव काम बोलता है का नारा देकर किसी खास समुदाय के लोगों के लिए काम करते रहे। योजनाओं का क्रियान्वयन उन्होंने धार्मिक आधार पर किया। किसी खास समुदाय के हित और वोट को ध्यान में रखकर योजनाओं को लागू किया। गांवों मे बिजली भी धर्म के आधार पर पहुंचाई। केंद्र सरकार की दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना में भी उनकी समाजवादी पार्टी ने खुलेआम धार्मिक आधार पर भेदभाव किया। इस बात का खुलासा सरकार की जांच रिपोर्ट में हुआ।

इस बाबत उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के सांसद कुंवर सर्वेश कुमार ने 24 मई 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र भी लिखा था। पत्र में शिकायत की गई थी कि यूपी सरकार ने तुष्टिकरण की नीति अपनाते हुए विद्युतीकरण करते वक्त हिंदू इलाकों को छोड़ दिया जबकि मुस्लिम इलाकों में बिजली पहुंचाई गई। मुरादाबाद के सांसद ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में साफ कहा कि दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत सिर्फ मुस्लिम आबादी वाले इलाकों में ही बिजली पहुंचाने का काम हो रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुस्लिम इलाके में तो कब्रिस्तान तक का विद्युतीकरण कर दिया गया जबकि हिंदू इलाकों की पूरी तरह से अनदेखी की गई।

इतना ही नहीं सरकारी योजनाओं में केवल मुस्लिम कन्या के लिए प्रावधान किया है। उत्तर प्रदेश में मुस्लिम लड़कियों को पढ़ाई के लिए, शादी के लिए सरकार की तरफ से मदद दी जाती है, लेकिन गरीब हिंदुओं की ओर ध्यान नहीं दिया जाता। मुस्लिम वोट के लिए मुलायम सिंह यादव अभी तक कहते हैं कि 16 क्या 30 भी मारने पड़ते तो मरवा देता लेकिन मस्जिद नहीं छूने देता।

अखिलेश का कथित सेकुलर रूप तो इसी से साबित हो जाता है जब राज्य में कोई मुस्लिम पुलिसकर्मी मरता है तो उसे 55 लाख का मुआवजा मिलता है जबकि हिंदू पुलिसकर्मी मरने पर उसे सिर्फ पांच लाख रुपए दिए जाते हैं। इसके साथ ही दादरी कांड के आरोपी मुस्लिम परिवार को चार फ्लैट और 45 लाख रुपए मुआवजा देती है।

  • अब सवाल उठता है धर्म के आधार पर काम करने वाले अखिलेश सेकुलर कैसे हुए?
  • सिर्फ मुसलमानों के कल्याण के लिए काम करने वाले अखिलेश को सेकुलर कैसे कहा जाए?
  • धर्म के आधार पर भेदभाव खत्म करने की बात एंटी सेकुलर कैसे हो गई?
  • धार्मिक आधार पर किसी खास इलाके में काम कराना कौन सी धर्मनिरपेक्षता है?
  • 19% वोट के लिए 81% की अनदेखी को कैसे सेकुलर कहा जाए?

LEAVE A REPLY