Home विशेष प्रधानमंत्री मोदी की सख्ती से वसूली जा चुकी है फर्जीवाड़े की आधी...

प्रधानमंत्री मोदी की सख्ती से वसूली जा चुकी है फर्जीवाड़े की आधी से अधिक रकम

311
SHARE

हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी देश का 11 हजार करोड़ रुपये लेकर फरार हो गया। यूपीए सरकार के दौरान 2011 में शुरू हुए इस फर्जीवाड़े के तार कांग्रेस नेताओं से भी जा लगे हैं। हालांकि इस मसले पर कांग्रेस द्वारा कार्रवाई में नरम रुख अपनाने के आरोप लगाए जा रहे हैं, लेकिन आप सच्चाई जानेंगे तो हैरत में पड़ जाएंगे। क्योंकि ये सत्य है कि मोदी सरकार ने इस फर्जीवाड़े में जितनी त्वरित गति से कार्रवाई की है उतनी तेजी से कार्रवाई का इतिहास भारत में शायद ही हो।

दरअसल नीरव मोदी के देश से फरार होने के बाद से छह दिनों के भीतर ही अब तक फर्जीवाड़े की रकम के करीब साठ प्रतिशत वसूल भी लिए गए हैं। आइये जानते हैं कि अब तक क्या-क्या जब्त किए गए हैं-

नीरव-मेहुल पर और कसा शिकंजा, 9 लग्जरी कारें जब्त
पीएनबी घोटाले में 21 फरवरी को नीरव मोदी के मुंबई स्थित फॉर्म हाउस पर छापा मारा गया। इसके साथ ही अन्य जगहों पर हुई कार्रवाई में नीरव की 9 लग्जरी कारें जब्त की गईं। एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट यानि प्रवर्तन निदेशालय द्वारा जब्त की गई कारों में एक रोल्स रॉयस घोस्ट, एक पोर्श पैनामरा, 2 मर्सडीज बेंज GL-350 CDI, एक टोयोटा फॉर्च्युनर, 3 होंडा सिटी कार और 1 इनोवा कार है। इनमें सिर्फ एक कार रॉल्स रॉयल घोस्ट की कीमत ही 6 करोड़ है।

94 करोड़ के म्युच्युअल फंड और शेयर्स जब्त
मेहुल चोकसी के गीतांजलि ग्रुप के 86.72 करोड़ के कई म्युचुअल फंड और शेयर भी जांच एजेंसी ने अपने कब्जे में ले लिए। ईडी ने गिली इंडिया कंपनी के डायरेक्टर अनियथ शिवरामन का मुंबई स्थित घर सील कर दिया है।

आयकर विभाग ने जब्त किए 145 करोड़ रुपये
आयकर विभाग ने नीरव मोदी के 145.74 करोड़ रुपये जब्त कर लिए हैं। ये रकम अब तक विभिन्न बैंकों से खोजे गए कुल 141 बैंक खातों और फिक्स्ड डिपोजिट्स से मिली है। 20 फरवरी को कानपुर से तीन और अहमदाबाद से एक अचल संपत्ति को भी सीज किया गया है।

5 हजार करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त
नीरव मोदी के ठिकानों से प्रवर्तन निदेशालय ने 5649 करोड़ रुपए के जेवर जब्त किए हैं। इनमें से 3800 करोड़ के जेवरात केवल हैदराबाद से किए गए हैं। ईडी की कार्रवाई प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉनड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत हो रही है। यह क्रिमिनल केस है। एक्ट में प्रावधान है कि आरोपी ने अगर टेंटेड (गलत तरीके से अर्जित) पैसे से प्रॉपर्टी या एसेट बनाया है तो उसे जब्त किया जा सकता है।

विपुल अंबानी के अलावा पांच अन्य करीबी गिरफ्तार
पीएनबी धोखाधड़ी मामले में विशेष अदालत ने नीरव मोदी की कंपनी के सीएफओ विपुल अंबानी समेत 5 अन्य को पांच मार्च तक सीबीआई हिरासत में भेज दिया गया है। नीरव मोदी, उनके रिश्तेदार और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चोकसी की संलिप्तता वाले मामले में सीबीआई द्वारा दर्ज की गई प्राथमिकियों के आधार पर इन सभी छह लोगों को गिरफ्तार किया गया।

नीरव मोदी के पासपोर्ट सस्पेंड किए गए
नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के पासपोर्ट रद्द करने के अलावा उनकी तलाश जारी है। हालांकि अभी तक यह नहीं पता लग पाया है कि नीरव मोदी कहां छिपा बैठा है। सरकार के सूत्रों का कहना है कि जैसे ही नीरव मोदी और मेहुल चोकसी का पता लगेगा, उस देश की सरकार से उनके प्रत्यर्पण की भी कोशिश की जाएगी।

LEAVE A REPLY