Home समाचार दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर ये हैं मोदी सरकार...

दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर ये हैं मोदी सरकार की उपलब्धियां

123
SHARE

शुक्रवार 6 सितंबर को मोदी सरकार 2.0 के 100 दिन पूरे हो गए हैं। मोदी सरकार 100 दिनों को लेकर एक प्रेस कांफ्रेस कर अपनी उपलब्धियां जनता के सामने बताने की तैयारी कर रही है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की उपलब्धियां को हम निम्न बातों के जरिए स्पष्ट किया जा सकता है।

तीन तलाक हुआ खत्म

मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान ही तीन तलाक को खत्म करने वाला बिल एजेंडे में शामिल था, लेकिन लोकसभा से पास होने के बाद ये बिल राज्यसभा से पास नहीं हो सका। वहीं लोकसभा चुनाव की वजह से इसमें ज्यादा देरी हो गई, लेकिन मोदी सरकार 2.0 सत्ता में फिर से भारी बहुमत के साथ आई और तीन तलाक बिल पास हो गया। लोकसभा और राज्यसभा से तीन तलाक बिल को पास करा के राष्ट्रपति की मंजूरी से इसे लागू कर दिया गया है।

आर्टिकल 370 को किया खत्म

मोदी सरकार का सबसे एतिहासिक और चर्चित फैसला जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटाने का रहा है। जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के प्रभाव को खत्म करने के साथ-साथ राज्य को दो हिस्सों में बांटने का काम भी इसी कार्यकाल में हुआ। मोदी सरकार के इस फैसले के बाद कश्मीर में एक देश, एक विधान और एक निशान लागू हो गया।

UAPA बिल किया लागू

आतंक पर कड़े प्रहार के लिए मोदी सरकार ने यूएपीए बिल को मंजूरी दे दी। इस बिल में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने वाले, उनकी मदद करने वाले, उन्हें पैसे मुहैया कराने वाले और उनका प्रचार करने वालों के खिलाफ सख्त प्रावधान किए गए हैं। नया यूएपीए कानून आतंकी गतिविधियों में लिप्त या उसे प्रोत्साहित करते मिले किसी व्यक्ति को आतंकी घोषित करने का अधिकार देता है।

बैंकों का हुआ विलय

मोदी सरकार ने देश में आर्थिक सुधार की दिशा में कदम उठाते हुए दस सरकारी बैंकों के विलय करके चार बड़े बैंक बनाने का ऐलान किया हैं। ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक का पंजाब नेशनल बैंक में विलय किया गया. सिंडिकेट बैंक को केनरा बैंक और इलाहाबाद बैंक को इंडियन बैंक में मिलाया गया। आंध्रा बैंक और कॉरपोरेशन बैंक को यूनियन बैंक ऑफ इंडिया से जोड़ने का एलान किया। इस विलय से बढ़ते NPA से राहत के साथ ही उपभोक्ताओं को बेहतर बैंकिंग सुविधाएं मुहैया हो पाएंगी।

सभी को मिले घर

मोदी सरकार 2.0 ने भी गांव और गरीबों को ध्यान में रख कर 2022 तक हर घर गैस और बिजली देने का लक्ष्य रखा है। 2022 में स्वतंत्रता के 75 साल पूरे होने वाले हैं, इसलिए सरकार इस साल तक कई बड़े काम कर रही है। पीएम आवास योजना के तहत 2022 तक 1.95 करोड़ घर बनाने का लक्ष्य रखा गया है, साथ ही मोदी सरकार ने महत्वाकांक्षी परियोजना ‘जल जीवन मिशन’ पर भी काम शरू हो गया है।

 

Leave a Reply