Home पोल खोल भाजपा नेताओं को निपटाने में जुटी कमलनाथ सरकार, 4 दिनों में दो...

भाजपा नेताओं को निपटाने में जुटी कमलनाथ सरकार, 4 दिनों में दो बीजेपी नेताओं की हत्या

495
SHARE

मध्य प्रदेश में सत्ता में आने के साथ ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भाजपा को निपटाने का जो वादा किया था, उस पर अमल होना शुरू हो गया है। मध्य प्रदेश में एक के बाद एक भाजपा नेताओं की हत्या हो रही है और सरकार इन हत्याओं को दूसरा रंग देने में जुटी हुई है।

बड़वानी जिले में रविवार को सुबह की सैर पर निकले भारतीय जनता पार्टी के बलबाड़ी मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे की नृशंस हत्या कर दी गई। उनके सिर पर पत्थर से प्रहार किया गया है। उनका शव खेत में मिला है। शव खून से लथपथ था। बड़वानी एमपी के गृहमंत्री बाला बच्चन का गृह जिला है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हत्या की बढ़ती वारदातों पर ट्वीट कर कहा, “एक के बाद एक बीजेपी नेताओं की हत्या होना बहुत गंभीर मामला है। कांग्रेस इसको सतही तौर पर लेकर क्रूर मजाक कर रही है। गृह मंत्री के गृह जिले में सरेआम भारतीय जनता पार्टी के लोकप्रिय मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे को मार दिया गया।”

इससे पहले 17 जनवरी को दिनदहाड़े मंदसौर में बीजेपी नेता और नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।  हमलावरों ने मंदसौर के नई आबादी इलाके में उनको गोली मारी और फरार हो गए। उनपर ताबड़तोड़ कई राउंड गोलियां चलाई गई। जिसके बाद उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

पुलिस का दावा है कि प्रहलाद बंधवार की हत्या बीजेपी के ही नेता ने कराई है। लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने इस हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग की है।


मनोज ठाकरे की हत्या में भी मध्य प्रदेश सरकार यही थ्योरी लेकर आई है। राज्य के गृहमंत्री बाला बच्चन ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा है कि ठाकरे की हत्या करने वाले उनके करीबी होने की आशंका हैं। मंदसौर में भी ऐसा ही हुआ था, वहां भी बीजेपी नेता के हत्यारा उनका करीबी निकला। राज्य के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बीजेपी नेताओं की हत्या को आपसी विवाद का प्रतिफल बताया है।   

हत्याओं के अलावा मध्य प्रदेश में भाजपा नेताओं पर हमले भी हो रहे हैं। जबलपुर में बीजेपी के मंडल अध्यक्ष  मगन सिद्दीकी पर चार लोगों ने हमला किया। इस हमले में बीजेपी के मंडल अध्यक्ष घायल हो गए. उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उनका इलाज चल रहा है।

घायल बीजेपी नेता मगन सिद्दीक़ी ने खुद के ऊपर हुए जानलेवा हमले को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया है। मडंल अध्यक्ष मगन सिद्दीकी का आरोप है कि उनके ऊपर कांग्रेस कार्यकर्ता हनीफ और जानी के साथ दो अन्य लोगों ने हमला किया। मगन सिद्दीकी की शिकायत पर हनुमानताल थाना ने आरोपी हानिफ, जानी और अन्य दो के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

बीजेपी के प्रदेश महामंत्री वीडी शर्मा ने कहा कि एमपी में एक बार फिर वर्ष 2003 से पहले के ‘गुंडाइज्म’ की वापसी हो गई है। राज्य में अपराध लगातार बढ़ रहे हैं, बीजेपी नेताओं की हत्या हो रही है। शर्मा ने राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि राज्य में अपराधों की बाढ़ सी आ गई है, बीजेपी के नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है। राज्य में अपराधों पर विराम नहीं लगा तो बीजेपी इसके खिलाफ सड़कों पर उतरेगी।

LEAVE A REPLY